होम कानपुर कानपुर आस-पास अपना प्रदेश राजनीति देश/विदेश स्वास्थ्य खेल आध्यात्म मनोरंजन बिज़नेस कैरियर संपर्क
 
  1. कन्नौज-पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार कर मामले की छानबीन शुरू कर दी है
  2.      
  3. कन्नौज-आरोपी युवक ने इसके बाद खुद थाने जाकर हत्या का जुर्म भी कबूल कर लिया
  4.      
  5. कन्नौज - कन्नौज में शख्स ने विवाद के बाद सास और पत्नी की हत्या निर्मम हत्या कर दी
  6.      
  7. असम- असम में बारिश के चलते चिरांग के निचले इलाके में भरा पानी, राज्य में बने बाढ जैसे हालात। राज्य के मंत्री चंदन ब्रम्हा ने बताया कि 100 से अधिक गांव बाढ की चपेट में लोगों को किया जा रहा राहत कैम्पो में शिफ्ट, जानवरो को भी सुरक्षित स्थानों पर जा रहा पहुंचाया।
  8.      
  9. केरल- केरल में गोल्ड स्मलिंग केस के मुख्य आरोपी सरित पीएस को सात दिनो की एनआईए की कस्टडी में भेजा गया।
  10.      
  11. ओडिशा- कर्नाटक के एक व्यापारी ने अपने लिए बनवाया साढे तीन लाख रूपये में सोने का बना माक्स, कहा मुम्बई के एक व्यक्ति को सोने का मुखौटा बनाते देख किया था अपने लिए मास्क बनवाने का फैसला।
  12.      
  13. दिल्ली- तिहाड जेल नम्बर चार में एक 38 वर्षीय कैदी ने की आत्महत्या, एक हत्या के मामले में वह कैदी था न्यायिक हिरासत में।
  14.      
  15. राजस्थान- राजस्थान विधायक मामले की जांच की मांग करते हुए भाजपा के संबित पात्रा ने कहा कि चाहे फोन टैपिंग हो या एसओपी का पालन किया गया हो। क्या राजस्थान में आपातकालीन स्थिति है, क्या सभी राजनीतिक दलों को बनाया जा रहा इसी प्रकार निशाना।
  16.      
  17. मध्य प्रदेश- कमलनाथ ने कहा कि मुझे यह पता था कि वे छोडकर जायेगे, बीजेपी के लोग विधायकों को काॅल कर रहे है और पैसा तथा पद का आॅफर दे रहें है, संविधान का कोई मतलब नही रहा, बस बोली बोलो, राजनीति करो।
  18.      
  19. राजस्थानः सचिन पायलट तथा अन्य बागी विधायकों के मामले की सुनवाई राजस्थान हाई कोर्ट में 20 जुलाई तक टली।
  20.      
  21. पश्चिम बंगाल- पश्चिम बंगाल में बीजेपी विधायक देवेंद्रनाथ राॅय की मौत की जांच सीआईडी कर रही है, लेकिन उनकी पत्नी चंदिमा राॅय ने कोलकाता हाईकोर्ट में सीबीआई जांच की मांग करते हुए दाखिल की याचिका।
  22.      
  23. वाराणसी- वाराणसी के एसपी सिटी विकास चंद्र त्रिपाठी ने कहा कि नेपाल के एक शख्स के जबरन मुंडन करने में, एक व्यक्ति ने नेपाल पीएम ओली के बयान से नाराज होकर ऐसा किया, मामला दर्ज कर लिया गया है और उस व्यक्ति की तलाश जारी है।
  24.      
  25. पश्चिम बंगाल- पश्चिम बंगाल हायद सेकंडरी एजुकेशन काउंसिल ने कल किये थे 12वीं कक्षा के परिणाम घोषित, नही जारी होगी इस वर्ष मेरिट लिस्ट।
  26.      
  27. लुधियाना- लुधियाना में अभिभावकों में स्कूल प्रशासन के लिए रोष, सरकार के छूट दिये जाने के ऐलान के बाद भी स्कूलो द्वारा मांग करने का आरोप। कहा कक्षाएं नही चल रही ठीक से और टयूशन फीस के साथ वार्षिक चार्ज मांगा जा रहा है। सरकारी स्कूलो में अपने बच्चों को डालेंगे अभिभावक।
  28.      
  29. उत्तर प्रदेश-आज सुप्रीम कोर्ट ने उत्तर प्रदेश पुलिस ने विकास दुबे और उसके साथियों के एनकाउंटर से जुडी याचिका के सम्बन्ध में किया दाखिल अपना जवाब, कहा सही था विकास व उसके साथियों का एनकाउंटर।
  30.      
  31. जम्मू-रक्षामंत्री राजनाथ सिंह पहुंचे अमरनाथ की गुफा, अमरनाथ बाबा के दर्शन कर की अराधना, सीडीएस बिपिन रावत के साथ आर्मी चीफ जनरल एमएम नरवणे भी मौजूद।
  32.      
  33. उत्तर प्रदेश-बेसिक शिक्षा विभाग के 69,000 सहायक शिक्षक भर्ती के अभ्यर्थी जिनकाफोन नम्बर बदलने के कारण ओटीपी नही प्राप्त हो रहा था उन्हे फोन नम्बर संशोधन की सुविधा प्रदान कर दी गयी है,बेसिक शिक्षा राज्यमंत्री स्वतंत्र प्रभार उ0प्र0- डा0 सतीश द्विवेदी।
  34.      
 
 
आप यहां है - होम  »  कानपुर आस-पास  »  जल संरक्षण एवं जल प्रबंधन अपनाकर वर्षा जल का होगा बेहतर संरक्षण
 
जल संरक्षण एवं जल प्रबंधन अपनाकर वर्षा जल का होगा बेहतर संरक्षण
Updated: 7/13/2020 9:22:44 PM Posted By- rajesh kashyap kanpur

जल संरक्षण एवं जल प्रबंधन अपनाकर वर्षा जल का होगा बेहतर संरक्षण 
हिंदुस्तान न्यूज़ एक्सप्रेस कानपुर चंद्रशेखर आजाद कृषि एवं प्रौद्योगिक विश्वविद्यालय कानपुर के कुलपति डॉक्टर डी.आर. सिंह ने कहा कि हमारा देश एवं प्रदेश कृषि आधारित है आज भी 70% जनसंख्या कृषि पर आधारित है और कृषि आधारित जल पर जिसमें 70% सिंचाई भूजल के भरोसे है। इसके लिए हमें सबसे पहले वर्षा जल को संरक्षित करने भूगर्भ जल बढ़ाने हेतु रिचार्ज बढ़ाने जल स्रोतों का पुनरुद्धार करना होगा क्योंकि यह सत्य है कि बिन पानी सब सून । उत्तर प्रदेश में आगरा, बुलंदशहर, फिरोजाबाद, गौतमबुधनगर, हाथरस, मैनपुरी, मेरठ, मुजफ्फरनगर, सहारनपुर ,शामली, संभल, अमरोहा, जौनपुर, प्रतापगढ़, कानपुर नगर एवं कानपुर देहात आदि जनपदों में भू जल संकट निरंतर बढ़ता जा रहा है। उन्होंने कहा जल एवं वायु से ही जलवायु का अस्तित्व है जलवायु परिवर्तन में जल की समस्या को बढ़ाया है वनों की कमी पृथ्वी की जल संग्रह संरक्षण क्षमता पर प्रतिकूल असर डालता है परंतु यदि हम खेती की ऐसी तकनीकी प्रबंधन अपनाए जाएं जो जलवायु के लिए मददगार हो वह जल की मात्रा आत्मक एवं गुणात्मक दोनों का सुधार होगा अभी देश में ज्यादातर सिंचाई डूब प्रणाली के तहत की जाती है विशेषता नहरी क्षेत्रों में खेतों का लबालब भर  दिया जाता है पौधों को पानी देने हेतु ड्रिप एवं स्प्रिंकलर प्रणाली को अपनाकर हम "पर ड्रॉप मोर क्रॉप" को सिद्ध कर सकते हैं कम पानी चाहने वाली फसलों को बढ़ावा देने की आवश्यकता है ऐसी फसल प्रणाली अपनाना होगा कि खेत की नमी का पूरा उपयोग हो और फसलों की सिंचाई की क्रांतिक अवस्थाएं जान कर सिंचाई करनी होगी। कुलपति ने कहा हमें जल उपयोग प्रबंधन के साथ जल संरक्षण की ऐसी प्रबंधन अपनाने होंगे जिससे गांव के पानी को गांव क्षेत्र में तथा खेत का पानी खेत में रोका जा सके। गांव व खेत के तालाबों को इस लायक बनाना होगा कि उसमें एकत्र होने वाला पानी संरक्षित बना रहे। जुलाई-अगस्त सितंबर में वर्षा जल के संरक्षण प्रबंधन की जन जागरूकता हेतु विश्वविद्यालय द्वारा समय-समय पर कृषक भाइयों तक तकनीकी पहुंचाने का कार्य किया जाएगा। उन्होंने कहा भूजल से सिंचाई करने के बजाय वर्षा के पानी का उपयोग क्षमता व प्रबंधन बढ़ाना होगा शुष्क तथा अर्ध शुष्क क्षेत्रों में आज भी आजीविका मुख्य साधन वहां की जल जमीन एवं जंगल तथा जानवर पर निर्भर है प्रकृति का स्वरूप विकृत हुआ है क्योंकि आबादी बढ़ने के साथ आवश्यकताएं भी बढ़ी हैं। डॉ सिंह ने कहा कि इन सब संसाधनों एवं उपायों को कारगर बनाने हेतु हमें 3 माह जुलाई अगर सितंबर में जल संरक्षण एवं रिचार्ज के प्रबंधन को अपनाना होगा जो वर्षा हो रही है उस वर्षा की हर बूंद को अपने खेत क्षेत्र( जलागम क्षेत्र) में संरक्षित करने का प्रबंधन अपनाना होगा हमारा विश्वविद्यालय जल एवं भूमि संरक्षण के कारगर उपाय हेतु दृढ़ संकल्पित है। उन्होंने किसान भाइयों से अपील की है कि जो जल हमारे पास उपलब्ध है उस जल का 70% उपयोग कृषि कार्य में होता है अतः हमारी जिम्मेदारी भी अधिक है कि वर्षा जल के संरक्षण के साथ-साथ जल के प्रबंधन एवं सिंचाई दक्षता अपनाना होगा। जल संरक्षण हेतु तकनीकी प्रबंधन में रबी फसलों की कटाई के बाद खेत की गहरी जुताई करना कटी मेड़ों को बांधना हरी खाद की बुवाई आदि कार्य के साथ जल संरक्षण हेतु "मोटी मेड छोटे खेत" का प्रबंधन अपनाना होगा। विश्व में खेती में इस्तेमाल होने वाली जमीन 52% से अधिक जल अपवाह के प्रबंधन सही ना होने पर छरित होती है। वर्तमान में पर्यावरण से जुड़ी सभी समस्याओं में से भारत के लिए सबसे चिंताजनक एवं चुनौतीपूर्ण है जल की समस्या वर्ष 2050 तक और पानी की कमी का सामना करना पड़ सकता है खेती में जल प्रबंधन में क्षेत्र आधारित जल की उपलब्धता विशेष जलवायु को विशेष फसल पद्धति सूक्ष्म सिंचाई टपक सिंचाई व बौछारई को अपनाना होगा जिसमें हर बूंद पानी का प्रयोग होता है। उन्होंने कहा देश में जल की कमी से अधिक जल के प्रबंधन की आवश्यकता है जिसको हमारे कृषि विज्ञान केंद्र व विश्वविद्यालय गांव गांव खेत खेत तक तकनीकी पहुंचाने में कार्य करेंगे माह जुलाई अगस्त सितंबर के 90 दिन का प्रबंधन भूजल स्तर को ऊपर उठा सकता है जिससे हम बाकी आठ नौ माह पीने का पानी कम नहीं होगा तालाब पोखर भरे रहेंगे खेतों में नमी संरक्षित रहेगी परंतु 3 माह जल संरक्षण पर सतर्क रहना है यदि हम वर्षा जल को संरक्षित कर ले तो पूरा देश प्रदेश में जलस्तर बढ़ने के साथ-साथ जल जल उपलब्धता सुनिश्चित रहेगी।

Share this :
   
State News से जुड़े हर ताज़ा अपडेट पाने के लिए HNS के फ़ेसबुक पेज को लाइक करें
 
प्रमुख खबरे
अपना बाजार वोकल फॉर लोकल के अंतर्गत शुरू
अनवरगंज-मंधना रेलवे ट्रैक मुद्दा संसद मेंं उठाने से व्यापारियों में आशा की किरण, किया सांसद का सम्मान
शहर से चट्टे हटवाने गयी महपौर व अभियान दल पर पथराव, पाँच नामजद एवं 200 अज्ञात पर केस दर्ज
अलग-अलग मामलो में दो अपराधी गिरफ्तार
पावर प्लांट में हड़ताल के बाद शुरु हुयी इकाई
 
 
 
Copyright © 2016. all Right reserved by Hindustan News Express | Privecy policy | Disclimer Powered By :