होम कानपुर कानपुर आस-पास अपना प्रदेश राजनीति देश/विदेश स्वास्थ्य खेल आध्यात्म मनोरंजन बिज़नेस कैरियर संपर्क
 
  1. प्रशासन ने जारी किया अलर्ट
  2.      
  3. धौली नदी में बाढ़ से हरिद्वार तक बड़ा खतरा
  4.      
  5. उत्तराखंड के चमोली जिले ग्लेशियर फटा
  6.      
  7. दिल्ली-कब तक दी जायेगी भारतियों को फ्री वैक्सीन- राहुल गांधी
  8.      
  9. दिल्ली-आईआईटी-2020 ग्लोबल समिति को आज सम्बोधित करेंगे प्रधानमंत्री मोदी
  10.      
  11. दिल्ली-रेपो रेट तथा रिर्वस रेपो रेट में नही हुआ कोई बदलाव
  12.      
  13. दिल्ली- विरोध कर रहे किसानों को लेकर हुई हाईलेवल बैठक
  14.      
  15. दिल्ली- शंघाई सहयोग संगठन बैठक में पीएम मोदी नही होंगे शामिल
  16.      
  17. दिल्ली-अब मोबाइल पर लैंडलाइन से बात करने पर लगना होगा जीरो
  18.      
  19. पंजाब-पंजाब में कल से लगेगा रात का कफ्र्यू
  20.      
  21. उत्तर प्रदेश- प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी वाराणसी पहुंचे
  22.      
  23. यूपी-गोंडा राम जानकी मंदिर के पुजारी को गोली मारी गई हालत गंभीर,लखनऊ रेफर
  24.      
  25. नोएडा-यमुना एक्सप्रेस वे दनकौर पिकअप गाड़ी का टायर चेंज कर रहे ड्राइवर और हेल्पर को पीछे से आई कार ने कुचला,दोनों की हालत गंभीर
  26.      
  27. रामनगर ,बेतालघाट ,भवाली सहित अन्य स्थानों में किए गए पुलिसकर्मियों के तबादले।
  28.      
  29. कोतवाली में तैनात कांस्टेबल, हेड कांस्टेबल, महिला कांस्टेबल के हुए तबादले
  30.      
  31. नैनीताल वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक एसके मीणा ने दिए तबादले के आदेश।
  32.      
  33. उत्तराखंड-लालकुआं कोतवाली में तैनात कई पुलिसकर्मियों के हुए तबादले।
  34.      
 
 
आप यहां है - होम  »  स्वास्थ्य  »  नुक्कड़ नाटक के जरिये कुष्ठ रोग के प्रति किया जागरूक
 
नुक्कड़ नाटक के जरिये कुष्ठ रोग के प्रति किया जागरूक
Updated: 2/9/2021 6:23:08 PM By Reporter- rajesh kashyap kanpur

नुक्कड़ नाटक के जरिये कुष्ठ रोग के प्रति किया जागरूक 
किसी के स्पर्श व साथ में खाने से नहीं फैलता कुष्ठ रोग का दिया सन्देश 
13 फरवरी तक चलेगा स्पर्श कुष्ठ जागरूकता अभियान
हिंदुस्तान न्यूज़ एक्सप्रेस कानपुर नगर,  9 फरवरी 2021 
जिले को कुष्ठ रोग मुक्त बनाने के लिए 13 फरवरी तक स्पर्श कुष्ठ जागरूकता अभियान चलाया जा रहा है । इसी क्रम में कुष्ठ रोग के प्रति समाज में फैली भ्रांतियों को दूर करने व इस बीमारी के प्रति जागरूक करने के लिए  मा. कांशी राम ट्रामा सेंटर के सामने मंगलवार को नुक्कड़ नाटक का आयोजन किया गया । इसके जरिये  कुष्ठ रोग के लक्षण व उसके इलाज के बारे में जानकारी दी गई। 
नुक्कड़ नाटक के जरिये  बताया गया कि कुष्ठ रोग किसी के स्पर्श व साथ में खाना खाने से नहीं फैलता। अगर मां को कुष्ठ रोग है और वह  एमडीटी का इलाज ले रहीं हैं तो उसके बच्चे को इस रोग के होने का कोई खतरा नहीं रहता। नाटक के माध्यम से बताया गया कि सरकारी अस्पतालों में कुष्ठ रोग का इलाज व दवाएं  मुफ्त उपलब्ध कराई जाती हैं ।
जिला कुष्ठ रोग अधिकारी डॉ महेश कुमार ने बताया कि नुक्कड़ नाटक का मंचन कर कुष्ठ रोग के लक्षण व उसके इलाज के बारे में जानकारी दी गई। उन्होंने बताया कि वर्ष 2030 तक जिले को कुष्ठ रोग मुक्त करने का लक्ष्य है। उन्होंने कहा कि कोई भी व्यक्ति अपने घर पर ही कुष्ठ रोग की पहचान कर सकता है। चमड़ी के रंग से फीका दाग-धब्बा है और सुन्नपन है जिसमें खुजली न हो, नसों में चुभन या छोटी गांठे हो गई है, हाथ-पैरों में सूखापन हो तो यह कुष्ठ रोग के लक्षण हो सकते हैं । इसे इलाज से ठीक किया जा सकता है।
जिला कुष्ठ रोग सलाहकार डॉ संजय यादव ने बताया कि स्पर्श कुष्ठ जागरूकता अभियान में कुष्ठ के प्रति लोगों में जागरूकता बढ़ाने के लिए दीवार लेखन, नुक्कड़ नाटक, क्विज प्रतियोगिता, जनसंदेश, पम्पलेट्स इत्यादि के द्वारा लोगों को जागरूक किया जा रहा है । उन्होंने बताया कि जनपद में मार्च 2019 से मार्च 2020 तक कुल 375 कुष्ठ रोगियों की खोज की गयी। वर्तमान में 107 कुष्ठ रोगियों का इलाज चल रहा है। 
कार्यक्रम में फ़िज़ियोथेरेपिस्ट पूजा, नॉन मेडिकल असिस्टेंट आरपी मौर्या , फ़िज़ियोथेरेपिस्ट गुलाब कुमार तथा कुष्ठ रोग विभाग के समस्त कर्मचारियों ने भी हिस्सा लिया |
दिव्यांग कुष्ठ रोगियों को मिलती है 2500 रुपये प्रतिमाह पेंशन 
फ़िज़ियोथेरेपिस्ट पूजा ने बताया कि कुष्ठ रोगियों के भरण-पोषण के लिए दिव्यांग भरण-पोषण अनुदान योजना के अंतर्गत कुष्ठ रोग के कारण दिव्यांगता के शिकार हुए लोगों को 2500 रुपये प्रतिमाह पेंशन दिया जाता है। उन्होंने बताया कि दिव्यांग भरण-पोषण अनुदान योजना के तहत जनपद में 286 लोगों को इस योजना के तहत लाभ मिल रहा है। पेंशन सीधे लाभार्थियों के सीधे खाते में भेजी जाती है। 
यह होंगे  दिव्यांग भरण-पोषण अनुदान के पात्र
कुष्ठ रोग से दिव्यांगता  हुई हो, प्रतिशत कुछ भी हो।
कुष्ठ रोग के कारण दिव्यांग  होने वाले प्रदेश के मूल निवासी हों।
पहले  से कोई भी पेंशन पाने वाले योजना का लाभ नहीं ले सकेंगे।
गरीबी रेखा के नीचे (बीपीएल) की श्रेणी में आने वाली आय सीमा निश्चित की गई है।
पेंशन के लिए आयुसीमा की कोई बाध्यता नहीं होगी।

Share this :
   
State News से जुड़े हर ताज़ा अपडेट पाने के लिए HNS के फ़ेसबुक पेज को लाइक करें
 
प्रमुख खबरे
जनपद में 1088 स्वास्थ्य कर्मियों व फ्रन्टलाइन वर्कर्स का हुआ टीकाकरण
पूरे मार्च माह चलेगा विशेष संचारी रोग नियंत्रण अभियान
भारत सरकार की नई स्वास्थ्य नीति के खिलाफ आई एम ए रखेगा उपवास
अज्ञानता में लोग हो रहे हैं कैंसर का शिकार:सीएमओ
मन में ना पालें कोई भ्रम - कोविड टीके में है पूरा दम :अपर निदेशक
 
 
 
Copyright © 2016. all Right reserved by Hindustan News Express | Privecy policy | Disclimer Powered By :