होम कानपुर कानपुर आस-पास अपना प्रदेश राजनीति देश/विदेश स्वास्थ्य खेल आध्यात्म मनोरंजन बिज़नेस कैरियर संपर्क
 
  1. प्रशासन ने जारी किया अलर्ट
  2.      
  3. धौली नदी में बाढ़ से हरिद्वार तक बड़ा खतरा
  4.      
  5. उत्तराखंड के चमोली जिले ग्लेशियर फटा
  6.      
  7. दिल्ली-कब तक दी जायेगी भारतियों को फ्री वैक्सीन- राहुल गांधी
  8.      
  9. दिल्ली-आईआईटी-2020 ग्लोबल समिति को आज सम्बोधित करेंगे प्रधानमंत्री मोदी
  10.      
  11. दिल्ली-रेपो रेट तथा रिर्वस रेपो रेट में नही हुआ कोई बदलाव
  12.      
  13. दिल्ली- विरोध कर रहे किसानों को लेकर हुई हाईलेवल बैठक
  14.      
  15. दिल्ली- शंघाई सहयोग संगठन बैठक में पीएम मोदी नही होंगे शामिल
  16.      
  17. दिल्ली-अब मोबाइल पर लैंडलाइन से बात करने पर लगना होगा जीरो
  18.      
  19. पंजाब-पंजाब में कल से लगेगा रात का कफ्र्यू
  20.      
  21. उत्तर प्रदेश- प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी वाराणसी पहुंचे
  22.      
  23. यूपी-गोंडा राम जानकी मंदिर के पुजारी को गोली मारी गई हालत गंभीर,लखनऊ रेफर
  24.      
  25. नोएडा-यमुना एक्सप्रेस वे दनकौर पिकअप गाड़ी का टायर चेंज कर रहे ड्राइवर और हेल्पर को पीछे से आई कार ने कुचला,दोनों की हालत गंभीर
  26.      
  27. रामनगर ,बेतालघाट ,भवाली सहित अन्य स्थानों में किए गए पुलिसकर्मियों के तबादले।
  28.      
  29. कोतवाली में तैनात कांस्टेबल, हेड कांस्टेबल, महिला कांस्टेबल के हुए तबादले
  30.      
  31. नैनीताल वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक एसके मीणा ने दिए तबादले के आदेश।
  32.      
  33. उत्तराखंड-लालकुआं कोतवाली में तैनात कई पुलिसकर्मियों के हुए तबादले।
  34.      
 
 
आप यहां है - होम  »  स्वास्थ्य  »  भारत सरकार की नई स्वास्थ्य नीति के खिलाफ आई एम ए रखेगा उपवास
 
भारत सरकार की नई स्वास्थ्य नीति के खिलाफ आई एम ए रखेगा उपवास
Updated: 2/12/2021 6:58:44 PM By Reporter- rajesh kashyap kanpur

भारत सरकार की नई स्वास्थ्य नीति के खिलाफ आई एम ए रखेगा उपवास
हिंदुस्तान न्यूज़ एक्सप्रेस कानपुर।इंडियन मेडिकल एसोसिएशन की अध्यक्षा डॉ. नीलम मिश्रा ने बताया की इंडियन मेडिकल एसोसिएशन द्वारा आगामी 14 फरवरी को गाँधी प्रतिमा, फूलबाग में भारत सरकार कि नई स्वास्थ्य नीति जिसमे चिकित्सा से जुड़ी तमाम विधाओं जैसे एलोपथी, होमियोपैथी, आयुर्वेद, सिद्धा व यूनानी आदि को बढ़ावा देने के बजाय इन सभी विधियों से मिश्रित (मिक्सोपैथी) चिकित्सा तैयार करना चाहती है, इसके विरोध में चिकित्सकों द्वारा उपवास का आयोजन किया गया है। कानपुर आई.एम.ए. के डॉक्टरों द्वारा किये जाने वाले इस सांकेतिक अनशन व विरोध का उद्देश्य आम जन के स्वास्थ्य पर सरकार की इस नीति से होने वाले दुष्परिणामों पर ध्यान आकर्षित करने के लिए किया गया है।
इंडियन मेडिकल एसोसिएशन एक्शन कमेंटी के चेयरमैन डॉ. शिवाकांत मिश्रा ने बताया कि इस क्रमिक अनशन का आयोजन आई.एम.ए. हेड क्वाटर के निर्देश पर पूरे देश में 1  से 14 फरवरी तक विभिन्न शहरों में किया जा रहा है । इस विरोध प्रदर्शन में कानपुर आई.एम.ए. चिकित्सकों के आलावा आई.एम.ए. की राष्ट्रीय व प्रादेशिक इकाई के प्रतिनिधियों को भी भाग लेने के लिए आमंत्रित किया गया है।
इंडियन मेडिकल एसोसिएशन भारत में चिकित्सा की विभिन्न पद्धितियों की आवश्यकता व महत्त्व का समर्थन करती है परन्तु विभिन्न पद्धितियों के मिश्रण से तैयार किये जाने वाले नीम हकीमों की फौज खड़ी करके आम जनमानस के स्वास्थ्य के साथ खिलवाड़ का पुरजोर विरोध करती है।भारतवर्ष आयुर्वेद पद्धति की जननी है । इंडियन मेडिकल एसोसिएशन चिकित्सा शिक्षा में खिचड़ी तंत्र का विरोध करता है। चिकित्सा शिक्षा एक गुणवत्तापूर्वक शिक्षा होती है जिसमें चिकित्सक को अच्छा हुनर दिया जाता है एवं हर छोटी से छोटी विद्या को विज्ञान सम्मत तरीके से विकसित किया जाता है । मॉडर्न मेडिसिन पूरी तरह से रिसर्व पर आधारित विद्या है जिसमें हर मर्ज का इलाज आधुनिक तरीके से किया जाता है। यह विद्या हर महामारी के नियन्त्रण में सक्रिय भूमिका निभाती है। देश में कोई नयी दवा आनी हो, या नयी तकनीक विकसित करनी हो या बीमारी को रोकने के लिए वैक्सीन तैयार करनी है, मॉडर्न मेडिसिन के रिसर्च से ही यह सम्भव हो पाता है।


Share this :
   
State News से जुड़े हर ताज़ा अपडेट पाने के लिए HNS के फ़ेसबुक पेज को लाइक करें
 
प्रमुख खबरे
गुर्दे के कोनिक रोगियों की संख्या हुई 1 लाख
कन्नौज जिला अस्पताल का हाल बेहाल
विशेष संचारी रोग नियंत्रण अभियान
टीकाकरण को लेकर बुजुर्गों में दिखा जबरदस्त उत्त्साह
माह के अंतिम आरोग्य मेले में हुआ 6515 मरीजों का परीक्षण
 
 
 
Copyright © 2016. all Right reserved by Hindustan News Express | Privecy policy | Disclimer Powered By :