होम कानपुर कानपुर आस-पास अपना प्रदेश राजनीति देश/विदेश स्वास्थ्य खेल आध्यात्म मनोरंजन बिज़नेस कैरियर संपर्क
 
  1. जिला अस्पताल के डॉक्टर ने किशोर राहुल को किया मृत घोषित,कोतवाली मोहम्मदाबाद क्षेत्र के कृष्ण बलराम नगर का मामला
  2.      
  3. मौके पर पहुची पुलिस ने गंभीर हालत में घायल किशोर को सीएचसी मोहम्मदाबाद लेकर पहुंची
  4.      
  5. मामूली बिबाद मे दोस्त ने की हत्या,दोस्त ने घर के बाहर मारी गोली
  6.      
  7. दोस्त ने की दोस्त की गोली मारकर हत्या इलाके में दहशत का माहौल
  8.      
  9. यूपी-फर्रुखाबाद देर रात्रि दोस्त ने ही दोस्त को उतारा मौत के घाट
  10.      
  11. प्रत्येक केंद्र पर स्टैटिक मजिस्ट्रेट और माइक्रो ऑब्जर्वर होंगे तैनात।
  12.      
 
 
आप यहां है - होम  »  स्वास्थ्य  »  मूक बाधिर बच्चों के लिए आयोजित हुआ जांच शिविर
 
मूक बाधिर बच्चों के लिए आयोजित हुआ जांच शिविर
Updated: 7/26/2021 7:04:26 PM By Reporter- Rahul dubay orai

मूक बाधिर बच्चों के लिए आयोजित हुआ जांच शिविर 
63 बच्चों का हुआ परीक्षण,18 बच्चे हुए कानपुर को रिफ़र 
आरबीएसके के तहत मूक बाधिर बच्चों का होगा निशुल्क ऑपरेशन  
हिंदुस्तान न्यूज़ एक्सप्रेस झाँसी 26 जुलाई 2021।राष्ट्रीय बाल स्वास्थ्य कार्यक्रम (आरबीएसके) के तहत आज जिला अस्पताल में शिविर लगाकर मूक बधिर बच्चों का परीक्षण किया गया। परीक्षण में बच्चों की सुनने और बोलने की क्षमता की जांच की गयी। परीक्षण के बाद चिन्हित बच्चों को कानपुर ऑपरेशन के लिए रेफर किया गया है।मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ॰ जी के निगम ने बताया आज आयोजित कैंप में 82 बच्चों ने रजिस्ट्रेशन कराया था जिसमें से 63 बच्चे ही परीक्षण के लिए आए। इन 63 बच्चों में 18 बच्चों को कोकलियर सर्जरी (कान की) के लिए कानपुर रिफर किया गया है। आरबीएसके के मैनेजर डॉ॰ राम बाबू ने बताया कि यह कैंप आरबीएसके और मल्होत्रा ईएनटी के सहयोग से आयोजित किया गया। कैंप में बच्चों के सुनने और बोलने की क्षमता जाँची गई। चिन्हित बच्चों को निशुल्क ऑपरेशन कानपुर में किया जाएगा। उन्होने बताया कि शिविर में ज़्यादातर बच्चे 5 वर्ष की आयु से अधिक के आए थे, जबकि कोकलियर सर्जरी 5 वर्ष तक की आयु के बच्चों की, की जा सकती है। इस तरह के ऑपरेशन में बच्चे की उम्र जितनी कम हो उतना ऑपरेशन करने में आसानी होती है। उम्र बढ़ने के साथ इस तरह के ऑपरेशन जटिल हो जाते हैं। बबीना के रिंकू यादव अपने 4 वर्षीय भाई रुद्र को लेकर शिविर में आए थे, रुद्र को एक कान से  30 प्रतिशत ही सुनायी देता है जबकि दूसरे कान से बिलकुल भी नहीं। डॉक्टर ने उसे कानपुर के लिए रिफर किया है। वहीं झाँसी शहरी क्षेत्र से आए विनोद अपनी 3 वर्षीय बेटी वेदिका को लेकर शिविर में आए थे, वेदिका बचपन से ही सुन और बोल नहीं पाती है। उन्हे इस कैंप की जानकारी अखबार से मिली थी। 
कैंप में मल्होत्रा ईएनटी फ़ाउंडेशन की तरफ से प्रोजेक्ट हैड नागेंद्र मिश्रा, प्रबन्धक मयंक ठाकुर,  ऑडियोलॉजिस्ट अजय गौतम सहित आरबीएसके के मेडिकल ऑफिसर डॉ॰ बृजेश यादव, डॉ॰ भानु प्रताप, फ़ार्मासिस्ट द्रोपति, ओप्टोमेट्रिस्ट शिव पटेल मौजूद रहे।

Share this :
   
State News से जुड़े हर ताज़ा अपडेट पाने के लिए HNS के फ़ेसबुक पेज को लाइक करें
 
प्रमुख खबरे
आईएमए के विशेषज्ञ चिकित्सकों की ओपीडी का संचालन आज से
मातृ वंदना सप्ताह में शहरी क्षेत्र में बेहतर प्रदर्शन,कानपुर नगर को प्रदेश में मिला दूसरा स्थान
सीजीपी रिफ्रेशर के समापन पर विशेषज्ञों ने दिये व्याख्यान
गुरुद्वारा संगत के मेडिकल स्टोर का एडीएम ने किया उद्घाटन
मानसिक रोगियों का रखें खास ख्याल, दें अपनापन
 
 
 
Copyright © 2016. all Right reserved by Hindustan News Express | Privecy policy | Disclimer Powered By :