होम कानपुर कानपुर आस-पास अपना प्रदेश राजनीति देश/विदेश स्वास्थ्य खेल आध्यात्म मनोरंजन बिज़नेस कैरियर संपर्क
 
  1. कन्नौज - भाजपा नेता पर गांव के दबंग परिवार ने किया हमला। हमले में भाजपा नेता रजनीश राजपूत व उसके परिवार के 5 लोग घायल। पीड़ित का आरोप शिकायत के बाद भी पुलिस ने नही की आरोपी अशोक के खिलाफ कार्यवाही। सदर कोतवाली के कपूरपुरकटरी निवासी रजनीश भाजपा ओबीसी प्रकोष्ठ का है जिलाध्यक्ष।
  2.      
  3. कन्नौज -अवैध रूप से जमा कर रखी गयी लाखो कीमत की आतिशबाजी बरामद। मुखबिर की सूचना पर एक मकान से मिली अवैध आतिशबाजी। आतिशबाजी डंप करने वाले युवक के खिलाफ विस्फोटक अधिनियम में मुकदमा दर्ज कर भेजा जेल। सौरिख थाना क्षेत्र के कबीरपुर का इरफान घर मे डंप किये था करीब 10 लाख की आतिशबाजी।
  4.      
  5. कन्नौज- लखनऊ की तरफ से आगरा की तरफ जा रहा तेज रफ्तार ट्राला अनियंत्रित होकर पलटा, एक की मौत, दो घायल। यूपीडा कर्मियों ने मृतक व घायलों को पहुंचाया मेडिकल कॉलेज। सुबह तड़के चालक की नींद बनी दर्दनाक हादसे का कारण। तिर्वा कोतवाली क्षेत्र के पचोर गांव के पास लखनऊ आगरा एक्सप्रेस वे पर हुआ हादसा।
  6.      
  7. उन्होंने मृतकों के परिवार की हर सम्भव मदद का दिया आश्वासन।
  8.      
  9. डीएम शुभ्रांत कुमार शुक्ला बोले कश्मीर डीएम से बात कर मंगवाए गये हैं दोनो के शव।
  10.      
  11. जानकारी मिलते ही डीएम ने एसडीएम को दन्नापुरवा भेजा।
  12.      
  13. मारे गये मजदूर रामसागर व मनीष कुछ दिन पहले काम करने गये थे कश्मीर।
  14.      
  15. कन्नौज-कश्मीर में हुये आतंकी हमले में मारे गये मजदूर ठठिया थाना क्षेत्र के दन्नापुरवा कर रहने वाले।
  16.      
  17. कानपुर-सीएसए के अधीन संचालित कृषि विज्ञान केंद्र दलीप नगर द्वारा ग्राम पिटूरा समायूँ में फसल अवशेष प्रबंधन पर ग्राम स्तरीय जागरूकता कार्यक्रम का किया गया आयोजन।
  18.      
  19. कानपुर-एडीजी जोन ने पेट परीक्षा की सुरक्षा व्यवस्था पर दिए दिशा निर्देश।
  20.      
 
 
आप यहां है - होम  »  आध्यात्म  »  नेत्र की ज्योति प्रदान करती मां कूष्मांडा का नीर, मराठा शैली में का बना है प्राचीन मंदिर
 
नेत्र की ज्योति प्रदान करती मां कूष्मांडा का नीर, मराठा शैली में का बना है प्राचीन मंदिर
Updated: 9/29/2022 11:44:00 PM By Reporter- rajesh kashyap kanpur

नेत्र की ज्योति प्रदान करती मां कूष्मांडा का नीर, मराठा शैली में का बना है प्राचीन मंदिर।
U- दूर -दूर से दर्शन करने आते है भक्त
हिंदुस्तान न्यूज़ एक्सप्रेस घाटमपुर। नगर समेत क्षेत्र में नवरात्रि के चतुर्थ दिन मां कूष्मांडा देवी के दर्शन करने भक्तों की भारी भीड़ उमड़ी है, नगर स्थित मां कूष्मांडा देवी मंदिर में सुबह से भक्त भारी संख्या में मां कूष्मांडा के दर्शन करने पहुंच रहे है। इसके लिए प्रशासन ने सुरक्षा के इंतजाम किए है। वही मंदिर की निगरानी सीसीटीवी कैमरे से हो रही है। आज शाम को यहां पर दीप दान के कार्यक्रम का आयोजन किया गया है। इस दौरान यहां पर लाखों की संख्या में भक्त पहुंचेंगे।
घाटमपुर नगर में मां कुष्मांडा देवी शक्ति पीठ मंदिर स्थित है, मंदिर लगभग एक हजार वर्ष पुराना बताया जाता है। नवरात्रि के चौथे दिन मां दुर्गा के स्वरूप मां कूष्मांडा की पूजा की जाती है, नगर व क्षेत्र में मां कूष्मांडा मंदिर भक्तो के लिए आस्था का केंद्र बना हुआ है। भक्त यहां पर मां को मिठाई, नारियल, चुनरी, चढ़ाते है। मंदिर परिसर में मुंडन व जनेऊ आदि मांगलिक कार्यक्रम होते रहते है। मां कूष्मांडा के मंदिर में कई वर्षो से अखंड ज्योति जल रही है। मान्यता के मुताबिक लगभग एक हजार वर्ष पहले कुड़हा नाम का ग्वाला इस जगह पर अपनी गाय चराया करता था। चरवाहे की गाय एक स्थान  पर खड़ी हो जाती थी, जिसके बाद गाय का दूध अपने आप जमीन पर गिर जाता था। जब इस जगह पर खोदाई की गई तो मां की पिंडी निकली। चरवाहे के नाम पर मां का नाम कूष्मांडा पड़ा। मां कूष्मांडा की पिंड से लगातार जल रिसता रहता है। मान्यता है, कि इस जल को यदि आंखों पर लगाया जाए तो अनेक रोग दूर होते हैं। मंदिर के गर्भगृह में मां की पिंडी स्थापित है। मां यहां पर लेटी हुई मुद्रा में भक्तों को दर्शन देती है।
- मां कूष्मांडा देवी मंदिर का इतिहास
इतिहासकारों के मुताबिक मंदिर की नींव राजा घाटमपुर दर्शन ने सन् 1380 में रख्खी थी, उन्ही के नाम पर नगर का नाम घाटमपुर रख्खा गया। नगर निवासी चंदीदीन भुर्जी ने सन् 1890 में इस प्राचीन मंदिर का निर्माण कराया था। इतिहासकारों की माने तो मराठा शैली में बने मंदिर में स्थापित मूर्तियां संभवत: दूसरी से दसवीं शताब्दी के मध्य की हैं। भदरस गांव निवासी एक कवि उम्मेदराय खरे ने सन 1783 में फारसी में ऐश आफ्जा नाम की पांडुलिपि लिखी थी, जिसमें मां कुष्मांडा और भदरस की मां भद्रकाली का वर्णन है।
- सीसीटीवी कैमरे से हो रही निगरानी
घाटमपुर सीओ तेजबहादुर सिंह ने बताया कि मां कूष्मांडा देवी मंदिर की सुरक्षा सीसीटीवी कैमरे से हो रही है। साथ ही सुरक्षा के लिए मंदिर में पीएसी बल के साथ पुलिस बल तैनात किया गया है। समय समय पर अधिकारी भी निरीक्षण कर रहे है।


Share this :
   
State News से जुड़े हर ताज़ा अपडेट पाने के लिए HNS के फ़ेसबुक पेज को लाइक करें
 
प्रमुख खबरे
श्री राम कथा रामलीला महोत्सव के तीसरे दिन हजारों भक्तों ने सुनी कथा
मनुष्य ही नहीं देवताओं पर भी आती हैं, समस्याएं : आचार्य रामाशीष
धान की बालियों से सजाया माता अन्नपूर्णा मंदिर दरबार |
हिमालय से बिछड़ी गंगा का काशी में हुआ मिलन -आशुतोषानंद गिरी
गणेश जी के पूजन के बिना सफलता संभव नहीं - आशुतोष आनंद गिरी
 
 
 
Copyright © 2016. all Right reserved by Hindustan News Express | Privecy policy | Disclimer Powered By :