होम कानपुर कानपुर आस-पास अपना प्रदेश राजनीति देश/विदेश स्वास्थ्य खेल आध्यात्म मनोरंजन बिज़नेस कैरियर संपर्क
 
  1. इटावा से एक दर्जन से अधिक संख्या में कन्नौज पहुंचे अधिकारी।
  2.      
  3. कागजों की छानबीन में जुटी जी एस टी की टीम।
  4.      
  5. तीन गाड़ियों से इत्र व्यापारी के घर पहुंची टीम।
  6.      
  7. कन्नौज-यूपी जी एस टी की टीम ने इत्र व्यापारी के घर पर मारा छापा
  8.      
 
 
आप यहां है - होम  »  बिज़नेस  »  पंजाब नेशनल बैंक ने लगाया ऋण मुक्ति शिविर,समझौता योजना की दी जानकारी
 
पंजाब नेशनल बैंक ने लगाया ऋण मुक्ति शिविर,समझौता योजना की दी जानकारी
Updated: 6/14/2022 5:16:00 PM By Reporter- prince srivastav kannauj

पंजाब नेशनल बैंक ने लगाया ऋण मुक्ति शिविर,समझौता योजना की दी जानकारी
कन्नौज ब्यूरो पवन श्रीवास्तव के साथ प्रिंस श्रीवास्तव
हिंदुस्तान न्यूज एक्सप्रेस कन्नौज संवाददाता। पंजाब नेशनल बैंक के मंडल कार्यालय इटावा के महाप्रबंधक सैय्यद अतहर हुसैन काजमी ने  पीएनबी मुख्य शाखा सरायमीरा में मंडल कार्यालय का दौरा किया। दौरे के दौरान महाप्रबंधक सैय्यद अतहर हुसैन काजमी  ने अध्यक्षता की। इस दौरान मंडल कार्यालय में एक ऋण मुक्ति शिविर लगाया गया। इसमें ऋणियों को एक विशेष समझौता योजना के तहत एकमुश्त राशि जमा करवाने पर भारी छूट के बारे में जानकारी दी गई।सोमवार को लगे शिविर में ऋणियों के गैर निष्पादित (एनपीए) हो चुके खातों का समाधान किया गया। सरायमीरा, गुरसहायगंज ,तिर्वा, छिबरामऊ व इंदरगढ़ समेत बैक की विभिन्न शाखाओं से आए हुए ऋणियों की समस्याओं को सुनकर तथा छूट प्रदान करके मौके पर ही उनके गैर निष्पादित खातों में वसूली की गई।मेगा ऋण शिविर में 75 बकायदारों  लगभग दस लाख पचास हजार रुपये प्रथम किस्त में जमा करके समझौता प्रस्ताव मंजूर किए गया।काजमी ने कहा कि आर्थिक विकास में बैंक सब के साथ मिलकर कार्य कर रहा है। इस उद्देश्य को ध्यान में रखा जाता है कि साधारण से साधारण व्यक्ति को ऋण सुविधा उपलब्ध करवाई जा सके। उधारकर्ताओं का दायित्व है कि समयानुसार बैंक का पैसा वापस किया जाए, ताकि भविष्य में उन्हें ऋण लेने में कोई परेशानी न हो तथा अधिक से अधिक लोगों को आवश्यकतानुसार ये सुविधा प्राप्त हो जाए।उप महाप्रबंधक शंकर ने वसूली एजेंसियों से बातचीत की तथा बैंक में बढ़ रहे एनपीए की समस्या पर विस्तारपूर्वक चर्चा की।उन्होंने बताया कि बैंकों में एनपीए की समस्या लगातार बढ़ती जा रही है। बैंक में एनपीए बढ़ता है तो लोगों को ऋण मिलने में कठिनाई होती है। बैंक का बहुत सा पैसा एनपीए के रूप में फंसा होता है और ऋण न मिलने पर नए व्यवसाय शुरू करने में कठिनाई आती है जिससे देश की अर्थव्यवस्था पर भी प्रतिकूल प्रभाव पड़ता है। इसके अतिरिक्त जमाकर्ताओं का बैंक पर विश्वास भी कमजोर हो जाता है।इस समस्या का निवारण करना अनिवार्य है। समझौता योजना के अंतर्गत 90 दिनों के भीतर समझौता राशि जमा करवा कर खाते का निपटान किया जा सकता है। दीपेंद्र त्रिवेदी  ने मंडल कार्यालय के स्टाफ सदस्यों के साथ भी बातचीत की।इस दौरान प्रभात त्रिपाठी, अंकित पांडेय समेत  जनपद के समस्त शाखा प्रबंधक मौजूद रहे।

Share this :
   
State News से जुड़े हर ताज़ा अपडेट पाने के लिए HNS के फ़ेसबुक पेज को लाइक करें
 
प्रमुख खबरे
इलाहाबाद बैंक/इंडियन बैंक का मनाया 116 वां स्थापना दिवस
कमिश्नर ने बैंक ऑफ महाराष्ट्र अत्याधुनिक सेवायुक्त शाखा का किया उद्घाटन
आईसीआईसीआई बैंक ने आईआईटी में किया शाखा का उद्घाटन
यूको बैंक की ऋण समाधान योजना का खाता धारक उठा रहे है लाभ
रेनो इंडिया ने काइगर मॉडल ईयर 22 को पेश किया
 
 
 
Copyright © 2016. all Right reserved by Hindustan News Express | Privecy policy | Disclimer Powered By :