होम कानपुर कानपुर आस-पास अपना प्रदेश राजनीति देश/विदेश स्वास्थ्य खेल आध्यात्म मनोरंजन बिज़नेस कैरियर संपर्क
 
  1. कन्नौज-कन्नौज में एक बार फिर जीएसटी की छापेमारी शुरू,कई इत्र कारोबारियों के कारखानों में छापेमारी की गई,अजयपाल मोहल्ले में कई इत्र कारोबारियों पर छापा,अचानक जीएसटी की छापेमारी से फिर हड़कम्प मचा,इत्र कारोबारी अनवर वारसी के घर में छापेमारी की,टैक्सचोरी के शक में इत्र कारोबारी के ठिकाने पर छापा ,कारोबारी के घर से मिले बिल,कागज साथ ले गई टीम
  2.      
  3. 25 जनवरी को सप्लाई कोर्ट रिव्यू पैनल सब कमेटी की बैठक,उपभोक्ता परिषद के अध्यक्ष ने प्रस्ताव पर जताई आपत्ति
  4.      
  5. 25 जनवरी को कमेटी की बैठक में होगी चर्चा,प्रस्ताव को हरी झंडी मिलते ही कनेक्शन महंगा होगा,वर्तमान दरों की तुलना में 20% तक देने होंगे अधिक दाम
  6.      
  7. उपभोक्ताओं को मिल सकता है एक और झटका,पावर कारपोरेशन ने दाखिल किया प्रस्ताव
  8.      
  9. लखनऊ-नया बिजली कनेक्शन 20% हो सकता है महंगा
  10.      
  11. 12 फ़रवरी को रिक्त होने वाली पांच सीटों में 3 भाजपा की पार्टी के वरिष्ठ नेताओं को जिलेवार प्रभारी बनाया गया है
  12.      
  13. 100 सीटों वाले विधान परिषद में सपा के पास 9 सीटें हैं,जबकि नेता प्रतिपक्ष के पद को पाने के लिए 10 सीटें ज़रूरी
  14.      
  15. 1 सीट जीतने पर नेता प्रतिपक्ष का पद मिल जाएगा
  16.      
  17. 30 जनवरी को कुल 5 सीटों के लिए होगा मतदान
  18.      
  19. लखनऊ-स्नातक व शिक्षक सीट पर समाजवादी पार्टी की नजर
  20.      
  21. हादसा छिबरामऊ क्षेत्र के एनएच 91लड़ैता गांव के पास की है।
  22.      
  23. सभी श्रद्धालु कन्नौज जनपद के निवासी हैं।
  24.      
  25. श्रद्धालु शिकोहाबाद के एक मंदिर से होकर लौट रहे थे
  26.      
  27. घायलों को कराया गया 100शैया अस्पताल में भर्ती।
  28.      
  29. 16श्रद्धालु हुए घायल जिसमें 7 गंभीर रूप से घायल।
  30.      
  31. लगभग 25 श्रद्धालु बस में सवार थे।
  32.      
  33. कन्नौज-श्रद्धालुओं से भरी बस अनियंत्रित होकर पलटी।
  34.      
  35. कानपुर-सीएसए के अधीन संचालित कृषि विज्ञान केंद्र दलीप नगर द्वारा ग्राम पिटूरा समायूँ में फसल अवशेष प्रबंधन पर ग्राम स्तरीय जागरूकता कार्यक्रम का किया गया आयोजन।
  36.      
 
 
आप यहां है - होम  »  आध्यात्म  »  हिमालय से बिछड़ी गंगा का काशी में हुआ मिलन -आशुतोषानंद गिरी
 
हिमालय से बिछड़ी गंगा का काशी में हुआ मिलन -आशुतोषानंद गिरी
Updated: 11/18/2022 11:01:00 PM By Reporter- praduman panday

हिमालय से बिछड़ी गंगा का काशी में हुआ मिलन -आशुतोषानंद गिरी
हिंदुस्तान न्यूज़ एक्सप्रेस चौबेपुर वाराणसी-हिमालय से बिछड़ी गंगा काशी में ही शिवजी से मिल पाई, द्वादश ज्योतिर्लिंग भगवान के द्वादश ब्रांच हैं, परंतु हेड ऑफिस काशी है। काशी में ही माता पार्वती को अन्नपूर्णा का दर्जा प्राप्त हुआ भगवान भोलेनाथ काशी में बैठे-बैठे विश्व का संचालन करते हैं ।सोनबरसा में चल रहे शिव महापुराण एवं रूद्र चंडी महायज्ञ के आठवें दिन स्वामी आशुतोषानंद गिरी महाराज ने  गुरु महिमा बताते हुए कहा पर्वतराज हिमाचल कभी इस बात के लिए सबसे लंबा हो गया थे ,कि सूर्य हमारी परिक्रमा करें। फिर देवताओं ने अगस्त्यमुनि को भेजा मुनी को देखकर विंध्याचल लेट कर प्रणाम करने लगे और बोले गुरुदेव कोई सेवा बतलाइए ,अगस्त मुनि ने कहा बेटा जब तक मैं लौट कर ना आऊं तब तक लेटे रहना । तब से आज तक विंध्याचल लेटे हुए हैं, लोगों ने विंध्याचल से कहा तुम्हारे गुरु ने तुम्हारे साथ छल किया है। वह कभी लौट कर नहीं आएंगे तुम खड़े हो जाओ परंतु विंध्याचल को गुरु वचनों पर विश्वास था ।
त्रेता युग में जब भगवान श्री राम वनवास काल के समय चित्रकूट पहुंचकर कामदगिरि की परिक्रमा करने लगे तब विंध्याचल की आंखें भर आई भावुक होकर रोने लगे कह रहे थे । कि देर से ही सही गुरु वचन सिद्ध होता है ,कभी हम तरस रहे थे कि सूर्य हमारी परिक्रमा करें किंतु देखो गुरु वचनों का चमत्कार आज सूर्यवंशी भूषण भगवान श्री राम स्वयं हमारी परिक्रमा कर रहे हैं, इसलिए गुरु वचनों में श्रद्धा आवश्यक है ।इस अवसर पर मुन्नू चौबे प्रहलाद तिवारी सत्येंद्र चौबे सहित सभी भक्त गण उपस्थित रहे।

Share this :
   
State News से जुड़े हर ताज़ा अपडेट पाने के लिए HNS के फ़ेसबुक पेज को लाइक करें
 
प्रमुख खबरे
प्रयाग नाराण मंदिर का 162वां श्री बम्होत्सव सम्पन्न
त्रिशित कश्यप ने नौगाँव छतरपुर में बोलों बोलों प्रेमियों श्याम बाबा की प्रस्तुति देकर मचाया धमाल
श्री कृष्ण बाल लीलाओं के वर्णन पर श्रद्धालुओं को किया भक्ति रस से सराबोर
राम जन्म के जयकारे से गूंज उठा ज्ञानवापी
महंत आवास पर बाबा विश्वनाथ का तिलकोत्सव
 
 
 
Copyright © 2016. all Right reserved by Hindustan News Express | Privecy policy | Disclimer Powered By :