होम कानपुर कानपुर आस-पास अपना प्रदेश राजनीति देश/विदेश स्वास्थ्य खेल आध्यात्म मनोरंजन बिज़नेस कैरियर संपर्क
 
  1. सुप्रसिद्ध गज़ल गायक पंकज उदास नहीं रहे
  2.      
  3. उत्तर प्रदेश/कानपुर-एडीजी जोन ने निर्वाचनों में अपने मताधिकार के प्रयोग की दिलाई शपथ
  4.      
  5. उत्तर प्रदेश/कानपुर देहात-एडीजी जोन ने नवनिर्मित मीडिया सेंटर कक्ष का किया उद्घाटन
  6.      
  7. उत्तर प्रदेश/कानपुर-छात्र-छात्राओं का शैक्षणिक भ्रमण दल आया वापस, कुलपति ने दी बधाई
  8.      
  9. उत्तर प्रदेश/कानपुर -उ.प्र. दिवस का सीएसए सभागार में विस अध्यक्ष ने दीप प्रज्ज्वलित कर किया शुभारंभ।
  10.      
  11. उत्तर प्रदेश/वाराणसी- माता मंगलागौरी के अन्नकूट श्रृंगार महोत्सव के अवसर पर निकाला गयी भव्य कलश यात्रा
  12.      
  13. उत्तर प्रदेश- कानपुर राष्ट्रीय मतदाता दिवस पर पेटिंग, पोस्टर व रंगोली प्रतियोगिता का आयोजन
  14.      
  15. चमनगंज पुलिस व फायर ब्रिगेड मौके पर।
  16.      
  17. उत्तर प्रदेश -कानपुर थाना चमनगंज अंतर्गत रूपम चौराहे के पास बिल्डिंग में लगी भीषण आग।
  18.      
  19. उत्तर प्रदेश वाराणसी-दर्शनार्थियों ने सामूहिक फांसी लगा दी जान मचा कोहराम
  20.      
  21. वाराणसी -40 वां श्री श्याम महोत्सव अत्यंत हर्षोल्लास के साथ मनाया गया।
  22.      
  23. वाराणसी-दीक्षा महिला कल्याण शोध संस्थान का 7वें वार्षिकोत्सव का हुआ आयोजन
  24.      
  25. कानपुर- केशव मधुवन सेवा समिति, केशव नगर द्वारा मंगलवार को करवा चौथ के उपलक्ष में समिति द्वारा महिलाओं के लिए निःशुल्क मेंहदी शिविर कार्यक्रम का आयोजन केशव मधुवन वाटिका,केशव नगर में किया गया।
  26.      
  27. कानपुर -सीएसए में देश के पहले उप प्रधानमंत्री और गृहमंत्री सरदार बल्लभ भाई पटेल की 148वी जयंती राष्ट्रीय एकता के रूप में मनाई गई।
  28.      
  29. कानपुर -सीएसए के अधीन संचालित कृषि विज्ञान केंद्र, इटावा,मैनपुरी एवं औरैया जनपद में स्थित कृषि विज्ञान केन्द्रो का किया दौरा
  30.      
  31. कानपुर-एडीजी जोन ने लौहपुरुष के तैलचित्र पर किया माल्यार्पण |
  32.      
  33. कानपुर-पुलिस आयुक्त ने राष्ट्रीय एकता एवं अखण्डता की दिलाई शपथ
  34.      
  35. कानपुर -आर्युवेद से कई बीमारियों का सफल इलाज- वैद्य बालेन्द्रू प्रकाश
  36.      
  37. कानपुर -सीएसए के अधीन संचालित कृषि विज्ञान केंद्र दलीप नगर पर बीएससी कृषि सप्तम सेमेस्टर की छात्राओं का ग्रामीण कृषि कार्य अनुभव प्रारंभ हुआ।
  38.      
  39. कानपुर- गंगा टास्क फोर्स और 54 एनसीसी कैडेटस ने मिलकर स्वच्छता अभियान चलाया।
  40.      
 
 
आप यहां है - होम  »  आध्यात्म  »  कार्तिक पूर्णिमा पर्व पर घाटों में उमड़ा आस्था का सैलाब
 
कार्तिक पूर्णिमा पर्व पर घाटों में उमड़ा आस्था का सैलाब
Updated: 11/27/2023 2:43:00 PM By Reporter- praduman panday

कार्तिक पूर्णिमा पर्व पर घाटों में उमड़ा आस्था का सैलाब
हिंदुस्तान न्यूज़ एक्सप्रेस वाराणसी।सात वार और नौ त्यौहार वाले काशी में आज कार्तिक पूर्णिमा के अवसर पर देव दीपावली का पर्व बड़े ही धूमधाम से मनाया जा रहा है। प्रातः काल भोर से से ही वाराणसी के गंगा घाटों पर श्रद्धालुओं का सैलाब उमड़ पड़ा है। वाराणसी के विश्व प्रसिद्ध दशाश्वमेध घाट, अस्सी घाट, केदार घाट, राजघाट समेत सभी प्रमुख घाटों पर श्रद्धालुओं की भारी भीड़ है। श्रद्धालु गंगा में स्नान ध्यान करने के बाद आचमन करते हुए अपने श्रद्धा अनुसार ब्राह्मण एवं निर्धन व्यक्तियों को दान कर रहे हैं। इसके अलावा विश्व प्रसिद्ध काशी विश्वनाथ मंदिर में सुबह से ही श्रद्धालुओं का ताता लगा हुआ हैं। दूर-दूर से संख्या में आए भक्त बाबा के दर्शन पाने के लिए लाइन में लगे हुए हैं।
क्या है मान्यता...
कार्तिक पूर्णिमा को लेकर विभिन्न मान्यताएं हैं। लेकिन एक प्रचलित मान्यता के अनुसार आदिकाल में त्रिपुरासुर नामक राक्षस का आतंक व्याप्त था। कहा जाता है कि कार्तिक पूर्णिमा के दिन ही भगवान शिव ने प्रदोष काल में अर्धनारीश्वर का रूप लेकर त्रिपुरासुर राक्षस का वध किया था। इस अवसर पर भगवान विष्णु ने भगवान शंकर को त्रिपुरारी नाम दिया। जो कि महादेव के विभिन्न नामों में से एक है। इस वध से सभी देवी देवता प्रसन्न हुए। इस अवसर पर देवी- देवताओं ने भगवान शंकर की प्रिय नगरी काशी में अकर गंगा किनारे दीप जलाकर दीपावली मनाई। तभी से यह परंपरा काशी में अनवरत चली आ रही है। तो वहीं मानता है कि तभी से काशी में प्रत्येक देव-दीपावली के अवसर पर साक्षात देवतागण स्वर्ग से उतरकर काशी में दीपावली मनाने आते हैं। तो वही इस पर्व को भगवान विष्णु के प्रथम अवतार यानी मत्स्य अवतार के रूप में भी मनाया जाता है। आदिकाल में वेदों की रक्षा करने के लिए भगवान विष्णु ने मत्स्य का अवतार लिया था। जो कि उनका पृथ्वी पर प्रथम अवतार था। धार्मिक मान्यताओं के अनुसार इस दिन गंगा स्नान से अपने पापों की मुक्ति मिलती है।महादेव की नगरी काशी में देव दीपावली के अवसर पर आस्था का सैलाब उमड़ पड़ा है। प्रातः भोर से ही लाखों की संख्या में श्रद्धालु गंगा स्नान कर चुके हैं। तो वहीं काशी के विश्व प्रसिद्ध काशी विश्वनाथ मंदिर में दर्शन करने के लिए श्रद्धालुओं का की लंबी कतार लगी हुई है। इसके अलावा काशी के काल भैरव मंदिर, संकट मोचन मंदिर, दुर्गाकुंड समेत सभी प्रमुख मंदिरों में भी श्रद्धालुओं की भीड़ उमड़ी है। तो वही घाट पर ही गंगा स्नान करने के बाद श्रद्धालु घाट पर परीक्षित मंदिरों में दर्शन पूजन व दीपदान कर रहे हैं। 
सुरक्षा व्यवस्था के पुख्ता है इंतजाम
देव दीपावली पर उमड़ने वाली भारी भीड़ को देखते हुए वाराणसी पुलिस कमिश्नरेट ने सभी तैयारियां मुस्तैद कर रखी है। घाटों पर भारी संख्या में पुलिस बल की तैनाती है। तो वहीं गंगा नदी में एनडीआरएफ व जल पुलिस, पीएसी , एसडीआरएफ लगातार निगरानी एवं गश्त कर रहे हैं। इसके अलावा मैदागिन से लेकर सोनारपुरा चौराहे तक भारी संख्या में पुलिस बल को लगाया गया है। जो की भीड़ को नियंत्रित एवं शहर के ट्रैफिक व्यवस्था व कानून व्यवस्था संभालने में जिले की फोर्स की मदद कर रहे हैं। वहीं केंद्रीय एवं राज्य की खुफिया एजेंटीयों के साथ-साथ एटीएस वह अन्य विभागों की टीम अलर्ट मोड़ पर है। इसके अलावा अस्सी घाट से लेकर राजघाट तक एनडीआरएफ, जल पुलिस व पीएसी लगातार अपनी नाव से गश्त कर रहे हैं।

Share this :
   
State News से जुड़े हर ताज़ा अपडेट पाने के लिए HNS के फ़ेसबुक पेज को लाइक करें
 
प्रमुख खबरे
रोग मुक्त शोक मुक्त भारत दण्डवत यात्रा।
धूमधाम और गाजे बाजे के साथ निकाली गई भव्य कलश यात्रा
वैष्णों धाम मंदिर पर किया गया विशाल जागरण एवं भंडारे का आयोजन
सनातन धर्म सास्वत हैःदंडी स्वामी महेश्वरा नंद सरस्वती जी महाराज
सच्चे भक्तों का हर कष्ट हरते है प्रभु:स्वामी महेश्वरा नंद सरस्वती
 
 
 
Copyright © 2016. all Right reserved by Hindustan News Express | Privecy policy | Disclimer Powered By :