होम कानपुर कानपुर आस-पास अपना प्रदेश राजनीति देश/विदेश स्वास्थ्य खेल आध्यात्म मनोरंजन बिज़नेस कैरियर संपर्क
 
  1. यूपी- कन्नौज स्वास्थ्य केंद्र की बदहाली को लेकर सपा का प्रदर्शन। सपा नेता नवाब सिंह यादव की अगुवाई में पीएचसी परिसर में ग्रामीणों ने किया जोरदार प्रदर्शन। सपा नेता बोले बद से बदतर हैं सदर के तिलसरा पट्टी की पीएचसी का हाल। जल्द सुधार न होने पर बड़े आंदोलन व सीएमओ ऑफिस घेरने की दी चेतावनी।
  2.      
  3. यूपी- कन्नौज फेसबुक पर बुअा-बबुआ नाम से पेज बनाकर पूर्व सीएम पर की अभद्र टिप्पणी, फेसबुक संस्थापक मार्क जुकरबर्ग समेत 49 के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज, अखिलेश यादव का कार्टून डालकर की गई अभद्र टिप्पणी, ठठिया के सरहटी गांव निवासी अंकित यादव ने दर्ज कराई रिपोर्ट, पुलिस ने कोर्ट के आदेश पर दर्ज की रिपोर्ट, जांच में जुटी पुलिस
  4.      
  5. स्टाफ की सर्तकता से कटिहार जा रही आम्रपाली एक्सप्रेस मे फर्जी टीटीई दबोचा गया
  6.      
  7. यूपी- कानपुर सेंट्रल पर फर्जी टीटीई दबोचा गया
  8.      
  9. यूपी- कन्नौज उड़नखटोले से दुल्हन लेने पहुंचा दूल्हा। मैनपुरी के करहल का ज्वैलर्स हैलीकॉप्टर लेकर पहुंचा दुल्हन लेने। सदर के बोर्डिंग ग्राउंड पर हैलीकॉप्टर देखने वालों की उमड़ी भीड़। उड़नखटोले से दुल्हन की विदाई की जिले में बनी चर्चा का विषय।
  10.      
  11. यूपी- कन्नौज मेड विवाद को लेकर 2 पक्षो में खूनी संघर्ष, मारपीट में 1 की मौत 2 गंभीर घायल, घटना स्थल पर पहुंचे एसपी प्रशांत वर्मा, गुरसहायगंज के बल्लुपुरवा गांव का मामला।
  12.      
 
 
आप यहां है - होम  »  कानपुर आस-पास  »  बच्चों को डायरिया,निमोनिया व सांस की बीमारियों से बचाएं
 
बच्चों को डायरिया,निमोनिया व सांस की बीमारियों से बचाएं
Updated: 10/15/2021 11:56:35 AM By Reporter- prince srivastav kannauj

बच्चों को डायरिया,निमोनिया व सांस की बीमारियों से बचाएं 
ग्लोबल हैंडवाशिंग डे आज पर विशेष 
प्रिंस श्रीवास्तव
हिंदुस्तान न्यूज एक्सप्रेस कन्नौज/फर्रुखाबाद संवाददाता।कोरोना ने हर किसी को हाथों की पूर्ण स्वच्छता की अहमियत अच्छी तरह से समझा दिया है । हाथों को स्वच्छ रखकर कोरोना ही नहीं बल्कि कई अन्य तरह की संक्रामक बीमारियों से बचा जा सकता है,क्योंकि हाथों के जरिये मुंह व नाक के रास्ते कई बीमारियाँ शरीर के अन्दर प्रवेश कर जाती हैं।इस बारे में समुदाय को पूरी तरह जागरूक करने के लिए ही हर साल 15 अक्टूबर को ग्लोबल हैंडवाशिंग डे (विश्व हाथधुलाई दिवस) मनाया जाता है।डॉ राममनोहर लोहिया चिकित्सालय महिला में तैनात बाल रोग विशेषज्ञ डॉ. शिबाशीश उपाध्याय का कहना है कि रिपोर्ट बताती हैं कि शून्य से पांच वर्ष तक के बच्चों की होने वाली कुल मौत में करीब 17 प्रतिशत निमोनिया और 13 प्रतिशत डायरिया की चपेट में आने से होती हैं।अगर हाथों की स्वच्छता का पूरा ख्याल रखा जाए तो इस आंकड़े में निश्चित रूप से कमी लाते हुए बच्चों के जीवन को बचाया जा सकता है।शुरूआती दिनों में बच्चे इन्हीं दोनों बीमारियों की चपेट में कई-कई बार आते हैं क्योंकि वह इधर-उधर चीजों को छूने के बाद ऊँगली मुंह में डाल लेते हैं या तो उन्हीं अनदेखी गंदगी से भरे हाथों से कुछ खा-पी लेते हैं और वही डायरिया का प्रमुख कारण बनता है।डॉ उपाध्याय का कहना है कि लम्बे समय तक डायरिया की चपेट में रहने से बच्चे कुपोषण की भी जद में आ जाते हैं जो कि उनके पूरे जीवन चक्र को प्रभावित करता है । इसलिए जरूरी है कि बचपन में ही हाथों की सही सफाई की आदत बच्चों में डालें और इसे उनके व्यवहार में शामिल करने की कोशिश करें।
यह ध्यान रहे कि मां बच्चे को छूने व स्तनपान कराने से पहले, खाना बनाने व खाने से पहले, खांसने-छींकने के फ़ौरन बाद, बीमार व्यक्तियों की देखभाल के बाद और शौच के बाद साबुन-पानी से 40 सेकेण्ड तक अच्छी तरह से हाथों को अवश्य धुलें। कोरोना से बचने के लिए बाहर से घर आने पर साबुन-पानी से पहले हाथ व पैर अच्छी तरह धुलें तभी अन्दर प्रवेश करें।इसके अलावा कोई वस्तु या सतह को छूने के बाद भी हाथों को धुलें या सेनेटाइज करें। 
सिविल अस्पताल लिंजीगंज में तैनात मेडिकल आफीसर डॉ ऋषिनाथ गुप्ता का कहना है कि सांस सम्बन्धी कई बीमारियाँ हाथों की सही तरीके से साफ़-सफाई न होने से पैदा होतीं हैं। गले के संक्रमण का यह बहुत बड़ा कारण बनता है । हाथों को अच्छी तरह से धुलने के बाद लोग कपड़े से पोंछ लेते हैं जिससे उस सफाई का कोई मतलब नहीं रह जाता है,इसलिए हाथों को धुलने के बाद उसे हवा में ही सुखाएं और अपने को संक्रमण से बचाएं।
  *इनसेट*
हाथों की सही सफाई ‘सुमन-के’ (एसयूएमएएन-के) ने समझाई : 
साबुन-पानी से हाथों की सही तरीके से सफाई के छह प्रमुख चरण बताये गए हैं,जिसे सुमन-के विधि से समझा जा सकता है। एस का मतलब है पहले सीधा हाथ साबुन-पानी से धुलें, यू- फिर उलटा हाथ धुलें, एम-फिर मुठ्ठी को रगड़-रगड़कर धुलें,ए- अंगूठे को धुलें,एन-नाखूनों को धुलें और के-कलाई को अच्छी तरह से धुलें।इस विधि से हाथों की सफाई की आदत बच्चों में बचपन से ही डालनी चाहिए और उसकी अहमियत भी समझानी चाहिए।

Share this :
   
State News से जुड़े हर ताज़ा अपडेट पाने के लिए HNS के फ़ेसबुक पेज को लाइक करें
 
प्रमुख खबरे
कन्नौज:पीडी के उत्पीड़न से तंग आकर प्रधान सहायक अधिकारी ने की खुदकुशी
अधिवक्ता दिवस धूमधाम से मनाया गया
घर में घुसकर मारपीट के मामले में आठ आरोपियों को चार वर्ष का कारावास
यूटा की शिकायत पर खंड शिक्षा अधिकारी की बीएसए ने बैठाई जांच
अण्डर पास बनाए जाने को लेकर ग्रामीणों ने जीटी रोड किया जाम
 
 
 
Copyright © 2016. all Right reserved by Hindustan News Express | Privecy policy | Disclimer Powered By :