होम कानपुर कानपुर आस-पास अपना प्रदेश राजनीति देश/विदेश स्वास्थ्य खेल आध्यात्म मनोरंजन बिज़नेस कैरियर संपर्क
 
  1. इटावा से एक दर्जन से अधिक संख्या में कन्नौज पहुंचे अधिकारी।
  2.      
  3. कागजों की छानबीन में जुटी जी एस टी की टीम।
  4.      
  5. तीन गाड़ियों से इत्र व्यापारी के घर पहुंची टीम।
  6.      
  7. कन्नौज-यूपी जी एस टी की टीम ने इत्र व्यापारी के घर पर मारा छापा
  8.      
 
 
आप यहां है - होम  »  कानपुर  »  सपा का प्रतिनिधि मंडल पहुंचा पारस के घर/परिवार को न्याय का भरोसा दिलाया
 
सपा का प्रतिनिधि मंडल पहुंचा पारस के घर/परिवार को न्याय का भरोसा दिलाया
Updated: 8/5/2022 7:25:00 PM By Reporter- rajesh kashyap kanpur

सपा का प्रतिनिधि मंडल पहुंचा पारस के घर/परिवार को न्याय का भरोसा दिलाया |
हिंदुस्तान न्यूज़ एक्सप्रेस कानपुर | सपा राष्ट्रीय अध्यक्ष व पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव के निर्देश पर सपा का  प्रतिनिधि मंडल सपा व्यापार सभा से जुड़े व्यापारी पारस गुप्ता के घर पहुंचा और पारस की पत्नी मनीषा,बेटी एंजिल,बेटे आरुष,भाई पंकज आदि से मिलकर सांत्वना दिया और न्याय दिलवाने का आश्वासन दिया।अखिलेश यादव ने  सपा नेता अभिमन्यु गुप्ता से पारस गुप्ता हत्याकांड की पूरी जानकारी ली थी जिसके बाद अखिलेश यादव ने प्रतिनिधि मंडल भेजा। पारस की पत्नी मनीषा ने अखिलेश यादव के नाम संबोधित पत्र प्रतिनिधि मंडल को सौंपा।मनीषा गुप्ता ने बताया की 25 मई को पारस की हत्या हुई जबकि 7 दिन पहले 18 मई को ही पारस ने मुख्यमंत्री पोर्टल में शिकायत कर दी थी।पर पुलिस ने कोई कार्यवाही नहीं की और 25 को पारस की हत्या हो गई।पुलिस हत्या के दो महीने बाद तक पारस को गुमशुदा ही बताती रही जबकि 26 मई को ही पारस का शव मिल गया था और 29 मई को ही पारस की अंत्येष्टि लावारिस में कर दी गई थी।जब इन दो महीनों तक पुलिस से पूछने जाते तो थाना हरबंसमोहल की पुलिस  अपमान करती और दुत्कारती थी। पुलिस ने समय रहते 18 मई को शिकायत पर कार्यवाही नहीं की जिसकी वजह से 25 मई को पारस की हत्या हो गई  और इसके बाद पुलिस की लापरवाही,अमानवीयता व संवेदनहीनता की वजह से पारस का शव तक परिजनों को नहीं दिया गया।मनीषा ने बताया की सपा नेता अभिमन्यु गुप्ता के साथ 29 जुलाई को पुलिस कमिश्नर से शिकायत करने पर थानाध्यक्ष व चौकी प्रभारी निलंबित हुए और नामजद हत्या का मुकदमा दर्ज हुआ।अभी तक पारस के हत्यारों की गिरफ्तारी नहीं हुई।मनीषा ने कहा की पारस की हत्या के लिए पुलिस जिम्मेदार है। 18 मई को ही शिकायत पर कार्यवाही हो जाती तो 25 मई को पारस की हत्या न होती।मुख्यमंत्री का पोर्टल मजाक और दिखावा साबित हुआ।मनीषा व बच्चों ने कहा की अखिलेश यादव जी से न्याय की उम्मीद है और वो ही परिवार का सहारा हैं। पारस के भाई पंकज ने कहा की सत्तापक्ष से जुड़े लोग अभियुक्तों को गिरफ्तारी नहीं होने दे रहे प्रतिनिधि मंडल ने आश्वासन दिया की पारस गुप्ता के परिवार को न्याय दिलवाएंगे और सड़क से लेकर सदन तक इस घटना को उठाएंगे।विधायक व पूर्व मंत्री मनोज पांडे ने कहा की यूपी में जंगलराज है।पारस के परिवार को न्याय दिलवाया जाएगा।प्रतिनिधि मंडल में विधायक मनोज पांडे,विधायक राहुल लोधी,विधायक श्याम सुंदर,विधायक इरफान सोलंकी,विधायक अमिताभ बाजपई, नि.जिलाध्यक्ष डॉ इमरान व पूर्व प्रत्याशी व्यापारी नेता अभिमन्यु गुप्ता शामिल रहे।

Share this :
   
State News से जुड़े हर ताज़ा अपडेट पाने के लिए HNS के फ़ेसबुक पेज को लाइक करें
 
प्रमुख खबरे
पौधों की नर्सरी हेतु ग्रामीण जागरुकता विषय पर कराया प्रशिक्षण
देश के महान सपूतों की गाथा का मन भावन की गई प्रस्तुति
स्वतंत्रता दिवस पर शहर हुआ तिरंगामय, हुए ध्वजारोहण के आयोजन
शहीद स्मारक पर वीरता,अदम्य साहस को सराहकर किया सत सत नमन
शहीदों के परिजनों को किया गया सम्मानित
 
 
 
Copyright © 2016. all Right reserved by Hindustan News Express | Privecy policy | Disclimer Powered By :