होम कानपुर कानपुर आस-पास अपना प्रदेश राजनीति देश/विदेश स्वास्थ्य खेल आध्यात्म मनोरंजन बिज़नेस कैरियर संपर्क
 
  1. दिनभर प्रयास के बाद 94 सड़कों को ही खोला जा सका
  2.      
  3. सड़कों की खोलने का लगातार प्रयास जारी
  4.      
  5. अलग अलग जिलों में बंद हुई हैं सड़कें
  6.      
  7. भारी बारिश से राज्य की 194 सड़कें बंद
  8.      
  9. उत्तराखंड में बारिश ने बढ़ाई मुश्किलें
  10.      
  11. 1 सिंम्बर से प्रदेशभर में निकाली जाएगी सैनिक सम्मान यात्रा,
  12.      
  13. सैनिकों के बच्चो के लिए हल्द्वानी में खोलेंगे जाएंगे छात्रावास
  14.      
  15. 8 हजार से बढाकर की गई 10 हजार रु पेंशन
  16.      
  17. सैकेंड वर्ल्ड वॉर की विडोज की बढ़ाई गई पेंशन
  18.      
  19. उत्तराखंड-देहरादून शौर्य दिवस पर मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी की बड़ी घोषणा
  20.      
  21. सदर कोतवाली के हरदोई तिराहा के पास का मामला ।
  22.      
  23. कड़ी मशक्कत के बाद दमकल ने आग पर पाया काबू।
  24.      
  25. घायलों को जिला अस्पताल में कराया गया भर्ती ।
  26.      
  27. आग में झुलसने से तीन मजदूर हुए घायल ।
  28.      
  29. उत्तर प्रदेश-कन्नौज अगरबत्ती फैक्ट्री में विस्फोट के साथ लगी भीषण आग ।
  30.      
  31. अपनी कार से नैनीताल घूमने आये थे पति पत्नी
  32.      
  33. हरियाणा गुड़गांव का रहने वाला है 55 वर्षीय हनुमंत तलवार
  34.      
  35. कार में पति पत्नी थे सवार, पत्नी को अस्पताल में कराया गया भर्ती
  36.      
  37. गाड़ी काटकर पर्यटक की पत्नी को निकाला बाहर
  38.      
  39. उत्तराखंड-नैनीताल कार पर बोल्डर गिरने से पर्यटक की मौत
  40.      
 
 
आप यहां है - होम  »  आध्यात्म  »  “हे महेश पुनःशिवगंगा बहा दो”
 
“हे महेश पुनःशिवगंगा बहा दो”
Updated: 6/18/2021 1:36:31 PM By Reporter- Hareom gupta

“हे महेश पुनःशिवगंगा बहा दो”
हिंदुस्तान न्यूज़ एक्सप्रेस पुणे```माहेश्वरी समाज की उत्पत्ति का आज है अभूतपूर्व दिन।
सृष्टि अधूरी है शिव-शक्ति के आशीर्वाद बिन॥
हे ध्यानमग्न नटराज, पाशविमोचन, रुद्र शिव शंकर।
अदृश्य वाइरस ने रूप रचा है भयंकर॥
हे कालो के काल, उमामहेश्वर महाँकाल।
धरा है कोरोना ने रूप मृत्यु का विकराल॥
कोरोना त्रासदी में शवो की लगी कतार।
हे नीलकंठ, त्रिपुरारी तुम अब करो बेड़ा पार॥
तुम तो बने थे इस दिन माहेश्वरी समाज की उत्पत्ति के जनक।
छूकर बना दो हम सबका जीवन भी कनक॥
हे त्रिपुरारी, महेश्वर, कमलेश्वर करो खुशियों का शंखनाद।
तुमने दूसरों के लिए त्याग किया सदैव निर्विवाद॥
हे मृत्युंजय इस अदृश्य विषाणु का करो संहार।
मंदिर खुले और शिवालयों में हो तुम्हारी जय-जयकार॥
कोरोना काल में भयभीत और व्यथित हुआ संसार।
हे भोलेनाथ, शम्भूनाथ सुनो हम भक्तजन की पुकार॥
माहेश्वरी की 72 खापों के तुम हो उत्पत्तिकर्ता।
कोरोना रूपी दानव से मुक्ति दो दु:खहर्ता॥
शिवगंगा तो हुई प्राणीमात्र के कल्याण के लिए अवतरित।
भोलेनाथ की स्तुति प्रार्थना तो फलदायी होती त्वरित॥
हे अविनाशी,गंगाधर,जगतगुरु तुम्हारी महिमा हे अपरंपार।
इस कोरोना काल से तारो, डॉ. रीना करती प्रार्थना बारंबार॥```*डॉ. रीना रवि *मालपानी (कवयित्री एवं लेखिका)*


Share this :
   
State News से जुड़े हर ताज़ा अपडेट पाने के लिए HNS के फ़ेसबुक पेज को लाइक करें
 
प्रमुख खबरे
बम-बम भोले के साथ भक्तो ने किया बाबा के दर्शन
“सावन प्रारम्भ विशेष : शिव का प्रिय बिल्वपत्र”
विदाई रथयात्रा में जगन्नाथ जी के भक्तो ने किये दर्शन
2100 बिस्किटों से भूतेश्वर महादेव का किया श्रृंगार
भगवान जगन्नाथ हुए स्वस्थ,भक्तों ने किया दर्शन
 
 
 
Copyright © 2016. all Right reserved by Hindustan News Express | Privecy policy | Disclimer Powered By :