होम कानपुर कानपुर आस-पास अपना प्रदेश राजनीति देश/विदेश स्वास्थ्य खेल आध्यात्म मनोरंजन बिज़नेस कैरियर संपर्क
 
  1. दिनभर प्रयास के बाद 94 सड़कों को ही खोला जा सका
  2.      
  3. सड़कों की खोलने का लगातार प्रयास जारी
  4.      
  5. अलग अलग जिलों में बंद हुई हैं सड़कें
  6.      
  7. भारी बारिश से राज्य की 194 सड़कें बंद
  8.      
  9. उत्तराखंड में बारिश ने बढ़ाई मुश्किलें
  10.      
  11. 1 सिंम्बर से प्रदेशभर में निकाली जाएगी सैनिक सम्मान यात्रा,
  12.      
  13. सैनिकों के बच्चो के लिए हल्द्वानी में खोलेंगे जाएंगे छात्रावास
  14.      
  15. 8 हजार से बढाकर की गई 10 हजार रु पेंशन
  16.      
  17. सैकेंड वर्ल्ड वॉर की विडोज की बढ़ाई गई पेंशन
  18.      
  19. उत्तराखंड-देहरादून शौर्य दिवस पर मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी की बड़ी घोषणा
  20.      
  21. सदर कोतवाली के हरदोई तिराहा के पास का मामला ।
  22.      
  23. कड़ी मशक्कत के बाद दमकल ने आग पर पाया काबू।
  24.      
  25. घायलों को जिला अस्पताल में कराया गया भर्ती ।
  26.      
  27. आग में झुलसने से तीन मजदूर हुए घायल ।
  28.      
  29. उत्तर प्रदेश-कन्नौज अगरबत्ती फैक्ट्री में विस्फोट के साथ लगी भीषण आग ।
  30.      
  31. अपनी कार से नैनीताल घूमने आये थे पति पत्नी
  32.      
  33. हरियाणा गुड़गांव का रहने वाला है 55 वर्षीय हनुमंत तलवार
  34.      
  35. कार में पति पत्नी थे सवार, पत्नी को अस्पताल में कराया गया भर्ती
  36.      
  37. गाड़ी काटकर पर्यटक की पत्नी को निकाला बाहर
  38.      
  39. उत्तराखंड-नैनीताल कार पर बोल्डर गिरने से पर्यटक की मौत
  40.      
 
 
आप यहां है - होम  »  स्वास्थ्य  »  जन्मजात बीमारियों के चिन्हित बच्चों के उपचार में बिलम्ब ठीक नहीं- आयुक्त
 
जन्मजात बीमारियों के चिन्हित बच्चों के उपचार में बिलम्ब ठीक नहीं- आयुक्त
Updated: 7/18/2021 7:00:18 PM By Reporter- Rahul dubay orai

जन्मजात बीमारियों के चिन्हित बच्चों के उपचार में बिलम्ब ठीक नहीं- आयुक्त
मंडल के 409 बच्चों के उपचार के लिए डीएम होंगे जिम्मेदार
हर जिले व मेडिकल कॉलेज में एक नोडल अधिकारी होगा नामित
मेडिकल में एक विशेष शिविर का होगा आयोजन
हिंदुस्तान न्यूज़ एक्सप्रेस झाँसी 18 जुलाई 2021।कोविड महामारी के बीच राष्ट्रीय बाल स्वास्थ्य कार्यक्रम (आरबीएसके) के जरिये चिन्हित 409 बच्चों के जल्द से जल्द उपचार के लिए मंडलायुक्त अजय शंकर पाण्डेय ने निर्देश दिये। स्वास्थ्य कार्यक्रमों की समीक्षा के लिए आयोजित जिलाधिकारियों की बैठक में मंडलायुक्त ने कहा कि सभी जिलाधिकारी कोविड से इतर अन्य स्वास्थ्य संबंधी कार्यक्रमों की अपने स्तर से नियमित समीक्षा करें। कोविड के कारण स्वास्थ्य संबंधी अनेक कार्यक्रम पीछे चले गए हैं। उनको मुख्य धारा में लाकर उनकी उपलब्धि में सुधार आवश्यक है। इसके लिए सभी का प्रयास महत्वपूर्ण है।
आरबीएसके की समीक्षा के दौरान पाया कि मंडल के तीनों जिलों के कुल 409 बच्चे ऐसे हैं जिनकी सर्जरी पेंडिंग है। इसमें सबसे ज्यादा 109 बच्चे कंजनाइटल कैटरेक्ट यानी जन्मजात मोतियाबिंद से ग्रसित है। मंडलायुक्त ने जिलाधिकारी झाँसी आन्द्रा वामसी को दायित्व सौपा कि वह महारानी लक्ष्मीबाई मेडिकल कॉलेज के साथ बैठक करके एक रणनीति बना ले, और तीनों जिलों को सूचित कर दे जिससे कि जिन बच्चों की मेडिकल कॉलेज में सर्जरी होनी है उनकी सर्जरी में बिलम्ब न हो हो। जिलाधिकारी ने कहा कि वे इस कार्य को प्राथमिकता पर पूर्ण करेंगे।बैठक में मंडलीय परियोजना प्रबंधक आनन्द चौबे के बताया कि जन्मजात मोतियाबिंद के अलावा होंठ व तालु कटे 36 बच्चों को कानपुर स्माइल ट्रेन से संपर्क स्थापित करके सर्जरी करायी जा सकती है। वहीं क्लब फुट यानि पैर मुड़े बच्चों का उपचार झाँसी जिला अस्पताल में हो रहा है तो बाकी के जिले जैसे जालौन के 13 और ललितपुर के 18 ऐसे बच्चों को झाँसी जिला अस्पताल या मेडिकल कॉलेज झाँसी में उपचार के लिए भेजा जा सकता है। 
मंडलायुक्त ने निर्देश दिया कि हर महीने 100 बच्चों की सर्जरी प्लान की जाए, चिन्हित बच्चों में ज़्यादातर बच्चों का उपचार झाँसी मेडिकल कॉलेज में सम्भव है, इसलिए मेडिकल में एक विशेष शिविर का आयोजन कर बच्चों को जल्द से जल्द उपचार दिलाया जाए। इसके लिए जिला स्तर पर एक नोडल अधिकारी बनाया जाए, साथ ही मेडिकल कॉलेज में भी एक नोडल अधिकारी बनाया जाए, जो आपसी समन्वय बनाकर बच्चों का बेहतर और समय पर उपचार सुनिश्चित कराएंगे। इसके लिए मेडिकल कॉलेज के सीएमएस को प्रभारी बनाया गया है।
इस तरह प्रयास रहेगा कि अगले 2 माह में कम से कम 50 प्रतिशत बच्चों का उपचार कराया जाए। मंडलायुक्त ने निर्देश दिये कि जनपदों से आने जाने के लिए मरीज व परिजनों के लिए वाहन की व्यवस्था भी की जाएगी।
हृदय संबंधी समस्या वाले बच्चों की सर्जरी यहाँ संभव नहीं है, इनके लिए मंडलायुक्त अलीगढ़ के मंडलायुक्त से वार्ता करेंगे।
बैठक में जिलाधिकारी झाँसी आंद्र वामसी, ए. दिनेश कुमार ललितपुर व प्रियंका निरंजन जालौन उपस्थित रहीं।

Share this :
   
State News से जुड़े हर ताज़ा अपडेट पाने के लिए HNS के फ़ेसबुक पेज को लाइक करें
 
प्रमुख खबरे
मूक बाधिर बच्चों के लिए आयोजित हुआ जांच शिविर
नहीं बनवाया है तो बनवा लीजिए फ्री आयुष्मान कार्ड
वृहद् स्तर पर खुशहाल परिवार दिवस 22 जुलाई को
आयुष्मान भारत कार्यक्रम के तहत स्कूल हेल्थ एंड वेलनेस प्रोग्राम का आयोजन
अभियान शुरू, मुफ्त खिलाई जा रही फाइलेरिया रोधी दवा
 
 
 
Copyright © 2016. all Right reserved by Hindustan News Express | Privecy policy | Disclimer Powered By :