होम कानपुर कानपुर आस-पास अपना प्रदेश राजनीति देश/विदेश स्वास्थ्य खेल आध्यात्म मनोरंजन बिज़नेस कैरियर संपर्क
 
  1. यूपी- कन्नौज स्वास्थ्य केंद्र की बदहाली को लेकर सपा का प्रदर्शन। सपा नेता नवाब सिंह यादव की अगुवाई में पीएचसी परिसर में ग्रामीणों ने किया जोरदार प्रदर्शन। सपा नेता बोले बद से बदतर हैं सदर के तिलसरा पट्टी की पीएचसी का हाल। जल्द सुधार न होने पर बड़े आंदोलन व सीएमओ ऑफिस घेरने की दी चेतावनी।
  2.      
  3. यूपी- कन्नौज फेसबुक पर बुअा-बबुआ नाम से पेज बनाकर पूर्व सीएम पर की अभद्र टिप्पणी, फेसबुक संस्थापक मार्क जुकरबर्ग समेत 49 के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज, अखिलेश यादव का कार्टून डालकर की गई अभद्र टिप्पणी, ठठिया के सरहटी गांव निवासी अंकित यादव ने दर्ज कराई रिपोर्ट, पुलिस ने कोर्ट के आदेश पर दर्ज की रिपोर्ट, जांच में जुटी पुलिस
  4.      
  5. स्टाफ की सर्तकता से कटिहार जा रही आम्रपाली एक्सप्रेस मे फर्जी टीटीई दबोचा गया
  6.      
  7. यूपी- कानपुर सेंट्रल पर फर्जी टीटीई दबोचा गया
  8.      
  9. यूपी- कन्नौज उड़नखटोले से दुल्हन लेने पहुंचा दूल्हा। मैनपुरी के करहल का ज्वैलर्स हैलीकॉप्टर लेकर पहुंचा दुल्हन लेने। सदर के बोर्डिंग ग्राउंड पर हैलीकॉप्टर देखने वालों की उमड़ी भीड़। उड़नखटोले से दुल्हन की विदाई की जिले में बनी चर्चा का विषय।
  10.      
  11. यूपी- कन्नौज मेड विवाद को लेकर 2 पक्षो में खूनी संघर्ष, मारपीट में 1 की मौत 2 गंभीर घायल, घटना स्थल पर पहुंचे एसपी प्रशांत वर्मा, गुरसहायगंज के बल्लुपुरवा गांव का मामला।
  12.      
 
 
आप यहां है - होम  »  कानपुर आस-पास  »  आज मनाया जायेगा ‘विश्व गठिया दिवस’
 
आज मनाया जायेगा ‘विश्व गठिया दिवस’
Updated: 10/12/2021 12:07:41 AM By Reporter- Sharad Yadav Auraiya

आज मनाया जायेगा ‘विश्व गठिया दिवस’
स्वस्थ जीवनशैली अपनाएं गठिया रोग को दूर भगाएं - डॉ विष्णु मल्होत्रा
हिंदुस्तान न्यूज़ एक्सप्रेस इटावा,11 अक्टूबर 2021।
प्रतिवर्ष 12 अक्टूबर को दुनिया भर में विश्व गठिया दिवस मनाया जाता है। इसका मकसद होता है कि लोगों को इस रोग के प्रति जागरूक बनाया जाए,जिससे वह गठिया रोग से अपना बचाव कर सकें। पहला विश्व अर्थराइटिस दिवस 12 अक्टूबर 1996 में मनाया गया था तब से हर साल गठिया के रोग के प्रति लोगों में जागरूकता फैलाने के लिए यह दिवस मनाया जा रहा है, यह कहना है डॉ भीमराव अंबेडकर जिला चिकित्सालय के ऑर्थो सर्जन डॉ विष्णु मेहरोत्रा का, उन्होंने बताया आज की बदलती जीवन जीवनशैली मोटापा और गलत खानपान की वजह से अर्थराइटिस रोग तेजी से बढ़ रहा है। डॉ मल्होत्रा ने बताया यदि हम स्वस्थ जीवनशैली अपनाएं तो गठिया रोग ही नहीं अन्य रोगों से भी निजात पा सकते हैं।   यह रोग बेहद तकलीफ दे होता है। इसकी मुख्य वजह शरीर के जोड़ों में दर्द होना और चलने फिरने में परेशानी, यह एक जॉइंट या शरीर के कई जोड़ों को भी प्रभावित कर सकता है। डॉ मल्होत्रा ने बताया ऑस्टियोऑर्थराइटिस आमतौर पर 55-60 की उम्र में होता है, लेकिन आज कम उम्र में भी लोग आर्थरिटिस का शिकार बन रहे है। जिसका कारण है मोटापा और अनियमित जीवन शैली। उन्होंने बताया
आर्थराइटिस का सबसे आम प्रकार है ऑस्टियोआर्थराइटिस। इसका असर जोड़ों, विशेष रूप से कूल्हे, घुटने, गर्दन, पीठ के नीचले हिस्से, हाथों और पैरों पर पड़ता है. खान-पान के तरीके भी इस बीमारी का कारण बन चुके, साथ ही शारीरिक एक्टिविटी भी इसका बहुत बड़ा जिम्मेदार है. आज गलत खानपान की वजह व  कई कारणों से  महिलाएं भी ऑर्थराइटिस का शिकार हो रही हैं।डॉ मल्होत्रा ने बताया इस बीमारी से बचाव के लिए जीवन शैली में बदलाव लाया जाए। जंक फूड और बाहर के खाने से बचें साथ ही नियमित तौर पर व्यायाम करें पौष्टिक भोजन लें।
 डॉ मल्होत्रा ने बताया यदि बढ़ती उम्र में इस रोग से जो भी बुजुर्ग ग्रस्त हैं, व महिलाएं और युवा अपने खानपान में कुछ बदलाव कर इस रोग के असहनीय दर्द से बचाव कर सकते हैं। उन्होंने बताया गठिया के मरीजों के लिए फायदेमंद हैं यह खाद्य पदार्थ-
1. लहसुनः
लहसुन हमारे शरीर की हडि्डयों को नुकसान पहुंचाने वाले तत्वों की रोकथाम के लिए सबसे मददगार उपाय है. लहसुन का रोजाना सेवन करने से हड्डियों के दर्द में आराम मिल सकता है. 
लहसुन का रोजाना सेवन करने से हड्डियों के दर्द में आराम मिल सकता है।
2. पत्तागोभीः
पत्तागोभी एक ऐसी सब्जी है जिसे सब्जी के रूप में इस्तेमाल किया जाता है. पत्ता गोभी को आपने कई चाइनीज फूड में इस्तेमाल होते हुए देखा होगा. लेकिन क्या आपको पता है, कि ये स्वाद ही नहीं शरीर के दर्द और हड्डियों के दर्द में भी आराम पहुंचा सकती है. 
3. मछलीः
मछली को हड्डियों के लिए काफी अच्छा माना जाता है. मछली में ओमेगा 3 फैटी-एसिड भरपूर मात्रा में पाया जाता है. ओमेगा 3 फैटी-एसिड को अर्थराइटिस में काफी मददगार माना जाता है. मछली के सेवन हड्डियों के दर्द में आराम मिल सकता है.
4. हल्दीः
हल्दी एक ऐसा मसाला है जिसे खाने के स्वाद और कलर को बढ़ाने के लिए इस्तेमाल किया जाता है. हल्दी को एंटीबायोटिक गुणों से भरपूर माना जाता है. हल्दी में मौजूद कुरक्युमिन गुण अर्थराइटिस की समस्या में आराम पहुंचाने का काम कर सकते हैं.
5. डेयरी प्रोड्क्टः
अर्थराइटिस के मरीजों को खाने में दूध, दही, पनीर का सेवन करना चाहिए. ताकि कैल्शियम की कमी न हो पाए, कैल्शियम की कमी से ये समस्या और बढ़ सकती है.

Share this :
   
State News से जुड़े हर ताज़ा अपडेट पाने के लिए HNS के फ़ेसबुक पेज को लाइक करें
 
प्रमुख खबरे
कन्नौज:पीडी के उत्पीड़न से तंग आकर प्रधान सहायक अधिकारी ने की खुदकुशी
अधिवक्ता दिवस धूमधाम से मनाया गया
घर में घुसकर मारपीट के मामले में आठ आरोपियों को चार वर्ष का कारावास
यूटा की शिकायत पर खंड शिक्षा अधिकारी की बीएसए ने बैठाई जांच
अण्डर पास बनाए जाने को लेकर ग्रामीणों ने जीटी रोड किया जाम
 
 
 
Copyright © 2016. all Right reserved by Hindustan News Express | Privecy policy | Disclimer Powered By :