होम कानपुर कानपुर आस-पास अपना प्रदेश राजनीति देश/विदेश स्वास्थ्य खेल आध्यात्म मनोरंजन बिज़नेस कैरियर संपर्क
 
  1. यूपी- कन्नौज स्वास्थ्य केंद्र की बदहाली को लेकर सपा का प्रदर्शन। सपा नेता नवाब सिंह यादव की अगुवाई में पीएचसी परिसर में ग्रामीणों ने किया जोरदार प्रदर्शन। सपा नेता बोले बद से बदतर हैं सदर के तिलसरा पट्टी की पीएचसी का हाल। जल्द सुधार न होने पर बड़े आंदोलन व सीएमओ ऑफिस घेरने की दी चेतावनी।
  2.      
  3. यूपी- कन्नौज फेसबुक पर बुअा-बबुआ नाम से पेज बनाकर पूर्व सीएम पर की अभद्र टिप्पणी, फेसबुक संस्थापक मार्क जुकरबर्ग समेत 49 के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज, अखिलेश यादव का कार्टून डालकर की गई अभद्र टिप्पणी, ठठिया के सरहटी गांव निवासी अंकित यादव ने दर्ज कराई रिपोर्ट, पुलिस ने कोर्ट के आदेश पर दर्ज की रिपोर्ट, जांच में जुटी पुलिस
  4.      
  5. स्टाफ की सर्तकता से कटिहार जा रही आम्रपाली एक्सप्रेस मे फर्जी टीटीई दबोचा गया
  6.      
  7. यूपी- कानपुर सेंट्रल पर फर्जी टीटीई दबोचा गया
  8.      
  9. यूपी- कन्नौज उड़नखटोले से दुल्हन लेने पहुंचा दूल्हा। मैनपुरी के करहल का ज्वैलर्स हैलीकॉप्टर लेकर पहुंचा दुल्हन लेने। सदर के बोर्डिंग ग्राउंड पर हैलीकॉप्टर देखने वालों की उमड़ी भीड़। उड़नखटोले से दुल्हन की विदाई की जिले में बनी चर्चा का विषय।
  10.      
  11. यूपी- कन्नौज मेड विवाद को लेकर 2 पक्षो में खूनी संघर्ष, मारपीट में 1 की मौत 2 गंभीर घायल, घटना स्थल पर पहुंचे एसपी प्रशांत वर्मा, गुरसहायगंज के बल्लुपुरवा गांव का मामला।
  12.      
 
 
आप यहां है - होम  »  स्वास्थ्य  »  फाइलेरिया की दवाएं पूरी तरह सुरक्षित, अवश्य खाएं, स्वयं और परिजनों को फाइलेरिया के संक्रमण से बचाए
 
फाइलेरिया की दवाएं पूरी तरह सुरक्षित, अवश्य खाएं, स्वयं और परिजनों को फाइलेरिया के संक्रमण से बचाए
Updated: 11/20/2021 7:43:12 PM By Reporter- Rahul dubay orai

फाइलेरिया की दवाएं पूरी तरह सुरक्षित, अवश्य खाएं, स्वयं और परिजनों को फाइलेरिया के संक्रमण से बचाए
सोमवार से चलेगा घर घर फाइलेरिया की दवा खिलाने का ​अभियान
टीमों का गठन, तैयारियां पूरी, 18 लाख से अधिक लोगों को दवा खिलाने का लक्ष्य
हिंदुस्तान न्यूज़ एक्सप्रेस जालौन, 20 नवंबर 2021। फाइलेरिया नियंत्रण अभियान के अंतर्गत दवा सेवा अभियान का आयोजन 22 नवंबर से सात दिसंबर तक ोगा। इसकी तैयारियां कर ली गई है। कार्यक्रम के तहत सोमवार, मंगलवार, गुरुवार और शुक्रवार को दवा खिलाने का अभियान चलाया जाएगा। जबकि सप्ताह के शेष दिनों में नियमित टीकाकरण सत्र (आरआई) के माध्यम से माप अप राउंड होगा, जिसमें छूटे हुए लोगों को दवा खिलाई जाएगी। यह जानकारी मुख्य चिकित्सा अधिकारी डा. एनडी शर्मा ने दी। वह सीएमओ कार्यालय में मीडिया वर्कशाप को संबोधित कर रहे थे।डा. शर्मा ने बताया कि फाइलेरिया रोग शरीर को कुरुप बनाने वाली बीमारी है। यह दीर्घकालिक दिव्यांगता का विश्व का दूसरा बड़ा कारण है। सरकार का लक्ष्य इस बीमारी को 2025 तक मुक्त करने का है। इसके लिए जिला स्तरीय टास्क फोर्स की बैठक हो चुकी है और सभी तैयारियां पूरी कर ली गई है। विभागीय टीमों को निर्देशित किया जा चुका है।कार्यक्रम के नोडल अधिकारी डा. एसडी चौधरी ने बताया कि वार्ड में वार्ड सभासद और गांव में प्रधान इस कार्यक्रम के नोडल होंगे। जबकि स्कूलों में भी प्रार्थनासभा के दौरान इसका प्रचार प्रसार किया जाएगा और दवा खिलाने के लिए प्रेरित  किया जाएगा। उन्होंने बताया कि जनपद में 1890976 लोगों को दवा खिलाने का लक्ष्य है। इसके लिए 1431 टीमें लगाई है। जबकि 243 पर्यवेक्षक बनाए गए हैं। कुल 316659 घरों में दवा खिलाने का काम किया जाएगा। इसके लिए 3989000 डीईसी और 1592000 एल्वेंडाजोल की दवाएं खिलाई जाएगी।  उन्होंने बताया कि खंड विकास अधिकारी अपने अपने ब्लाक के नोडल होंगे जो अभियान पर नजर रखेंगे। साथ ही चिकित्साधिकारी भी नियमित अपडेट करेंगे। उन्होंने कहा कि सभी लोग दवा का सेवन जरूर करें। दवा का कोई दुष्प्रभाव नहीं है। यदि किसी को दवा खाने के बाद थोड़ी सी खराश, खुजली, सिरदर्द, उल्टी या चक्कर महसूस होता है, तो घबराए नहीं, यह बताता है कि शरीर में फाइलेरिया के कृमि मौजूद है और दवा का उन पर असर होने का यह लक्षण है। उन्होंने बताया कि इसके लिए जनपद स्तर पर रैपिड रेस्पांस टीम का भी गठन कर दिया गया है। जो मौके पर मौजूद रहेगी।

जिला मलेरिया अधिकारी डा. जीएस स्वर्णकार ने बताया कि फाइलेरिया मरीजों की लाइन लिस्टिंग का काम पूरा हो गया है। परिवार पंजिका, प्रसार सामग्री आशाओं की टीम को उपलब्ध करा दी गई है। एक टीम में दो सदस्य रहेंगे। उन्होंने बताया कि 22 नवंबर से सात दिसंबर तक कुल दस दिनों का यह दवा खिलाने का अभियान है।
मच्छर काटने से फैलता है यह रोग
फाइलेरिया या हाथीपांव रोग, सार्वजनिक स्वास्थ्य की गंभीर समस्या है। यह रोग मच्छर के काटने से फैलता है। विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्लूएचओ) के अनुसार फाइलेरिया, दुनिया भर में दीर्घकालिक विकलांगता के प्रमुख कारणों में से एक है। आमतौर पर बचपन में होने वाला यह संक्रमण लिम्फैटिक सिस्टम को नुकसान पहुंचाता है और अगर इससे बचाव न किया जाए तो इससे शारीरिक अंगों में असामान्य सूजन होती है। फाइलेरिया के कारण चिरकालिक रोग जैसे; हाइड्रोसील (अंडकोष की थैली में सूजन), लिम्फेडेमा (अंगों की सूजन) व काइलुरिया (दूधिया सफेद पेशाब) से ग्रसित लोगों को अक्सर सामाजिक बोझ सहना पड़ता है, जिससे उनकी आजीविका व काम करने की क्षमता भी प्रभावित होती है। फाइलेरिया उन्मूलन कार्यक्रम में एल्बेंडाजोल भी खिलाई जाती है जो बच्चों में होने वाली कृमि रोग का उपचार करता है जो सीधे तौर पर बच्चों के शारीरिक और बौद्धिक विकास में सहायक होता है। ये दवाएं पूरी तरह सुरक्षित हैं- रक्तचाप, शुगर, अर्थरायीटिस या अन्य सामान्य रोगों से ग्रसित व्यक्तियों को भी  ये दवाएं खानी हैं | सामान्य लोगों को इन दवाओं के खाने से किसी भी प्रकार के दुष्प्रभाव नहीं होते हैं | और अगर किसी को दवा खाने के बाद उल्टी, चक्कर, खुजली या जी मिचलाने जैसे लक्षण होते हैं तो यह इस बात का प्रतीक हैं कि उस व्यक्ति के शरीर में  फाइलेरिया के कीटाणु मौजूद हैं, जोकि दवा खाने के बाद कीटाणुओं के मरने के कारण उत्पन्न होते हैं | उन्होंने कहा कि साल में केवल एक बार फ़ाइलेरिया रोधी दवाएं खाने से फ़ाइलेरिया के संक्रमण से बचा जा सकता है | इन लोगों को नहीं खिलाई जानी है दवा,गर्भवती, दो साल से कम आयु के बच्चों, गंभीर रुप से बीमार लोगों को,19 जनपदों में चलाया जा रहा अभियान उत्तर प्रदेश  सरकार ने राष्ट्रीय फाइलेरिया उन्मूलन कार्यक्रम के अंतर्गत प्रदेश के 19 जनपदों- अम्बेडकरनगर, अमेठी, अयोध्या, आज़मगढ़ , बलिया, बाँदा, बरेली, चित्रकूट, हमीरपुर, जालौन, जौनपुर, महोबा, मऊ, पीलीभीत, संत रविदास नगर (भदोही), शाहजहांपुर, लखनऊ, सोनभद्र और बाराबंकी में, भारत सरकार के दिशा-निर्देशों के अनुसार, कोविड-19 के मानकों को ध्यान में रखते हुए, मास ड्रग एडमिनिस्ट्रेशन (एम.डी.ए.) कार्यक्रम आगामी 22  नवम्बर से शुरू करने का निर्णय लिया है |

Share this :
   
State News से जुड़े हर ताज़ा अपडेट पाने के लिए HNS के फ़ेसबुक पेज को लाइक करें
 
प्रमुख खबरे
आरबीएसके ने फैलाया काजल की अंधेरी दुनिया में उजाला
सीएमओ ने इटावा महोत्सव में स्वास्थ्य शिविर का दीप जलाकर किया आगाज
यूपीयूएमएस में वर्ल्ड एड्स डे पर हुआ स्वैच्छिक रक्दान
जनपद निवासी डा0 सूर्यकान्त को नेशनल एकेडमी ऑफ मेडिकल साइंसेस के ओरेशन अवार्ड से किया गया सम्मानित
नन्हे क़दमों को सबल देने के लिए आयोजित किये जा रहे कैम्प
 
 
 
Copyright © 2016. all Right reserved by Hindustan News Express | Privecy policy | Disclimer Powered By :