होम कानपुर कानपुर आस-पास अपना प्रदेश राजनीति देश/विदेश स्वास्थ्य खेल आध्यात्म मनोरंजन बिज़नेस कैरियर संपर्क
 
  1. यूपी- कन्नौज स्वास्थ्य केंद्र की बदहाली को लेकर सपा का प्रदर्शन। सपा नेता नवाब सिंह यादव की अगुवाई में पीएचसी परिसर में ग्रामीणों ने किया जोरदार प्रदर्शन। सपा नेता बोले बद से बदतर हैं सदर के तिलसरा पट्टी की पीएचसी का हाल। जल्द सुधार न होने पर बड़े आंदोलन व सीएमओ ऑफिस घेरने की दी चेतावनी।
  2.      
  3. यूपी- कन्नौज फेसबुक पर बुअा-बबुआ नाम से पेज बनाकर पूर्व सीएम पर की अभद्र टिप्पणी, फेसबुक संस्थापक मार्क जुकरबर्ग समेत 49 के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज, अखिलेश यादव का कार्टून डालकर की गई अभद्र टिप्पणी, ठठिया के सरहटी गांव निवासी अंकित यादव ने दर्ज कराई रिपोर्ट, पुलिस ने कोर्ट के आदेश पर दर्ज की रिपोर्ट, जांच में जुटी पुलिस
  4.      
  5. स्टाफ की सर्तकता से कटिहार जा रही आम्रपाली एक्सप्रेस मे फर्जी टीटीई दबोचा गया
  6.      
  7. यूपी- कानपुर सेंट्रल पर फर्जी टीटीई दबोचा गया
  8.      
  9. यूपी- कन्नौज उड़नखटोले से दुल्हन लेने पहुंचा दूल्हा। मैनपुरी के करहल का ज्वैलर्स हैलीकॉप्टर लेकर पहुंचा दुल्हन लेने। सदर के बोर्डिंग ग्राउंड पर हैलीकॉप्टर देखने वालों की उमड़ी भीड़। उड़नखटोले से दुल्हन की विदाई की जिले में बनी चर्चा का विषय।
  10.      
  11. यूपी- कन्नौज मेड विवाद को लेकर 2 पक्षो में खूनी संघर्ष, मारपीट में 1 की मौत 2 गंभीर घायल, घटना स्थल पर पहुंचे एसपी प्रशांत वर्मा, गुरसहायगंज के बल्लुपुरवा गांव का मामला।
  12.      
 
 
आप यहां है - होम  »  आध्यात्म  »  अन्नपूर्णा मन्दिर सत्रह दिवसीय महाव्रत 24 नवम्बर से प्रारम्भ
 
अन्नपूर्णा मन्दिर सत्रह दिवसीय महाव्रत 24 नवम्बर से प्रारम्भ
Updated: 11/22/2021 4:34:58 PM By Reporter- praduman panday

अन्नपूर्णा मन्दिर सत्रह दिवसीय महाव्रत 24 नवम्बर से प्रारम्भ
महन्त के हाथों भक्तो को मिलेगा 17 गाठ वाला धागा 
हिंदुस्तान न्यूज़ एक्सप्रेस वाराणसी 17 दिवसीय महाव्रत अगहन माह के कृष्ण पक्ष के पंचमी तिथि के 24 नवम्बर दिन बुधवार से होगा जिसका समापन 17 वे दिन धान के श्रंगार के साथ अगहन माह के शुक्ल पक्ष 9 दिसम्बर शुक्रवात को होगा।मां अन्नपूर्णा का महाव्रत बुधवार से आरंभ होने जा रहा है। यह महाव्रत  17 वर्ष 17 महीने 17 दिन का होता है। परंपरा के अनुसार इस व्रत के प्रथम दिन प्रातः मंदिर के महंत स्वयं अपने हाथों से 17 गांठ के धागे भक्तों को देते हैं।
माता अन्नपूर्णा के इस महाव्रत में भक्त 17 गांठ वाला धागा धारण करते हैं। इसमें महिलाएं बाएं व पुरुष दाहिने हाथ में इसे धारण करते हैं। इसमें अन्न का सेवन वर्जित होता है। केवल एक वक्त फलाहार किया जाता है वह भी बिना नमक का। 17 दिन तक चलने वाले इस अनुष्ठान का उद्यापन 9 दिसम्बर को होगा  उसी दिन माँ धान की बालियों से मां अन्नपूर्णा के गर्भ गृह समेत मंदिर परिसर को सजाया जाता है और प्रसाद स्वरूप धान के बाली   आम भक्तों में वितरण किया जाता है ।
मान्यता है की पूर्वांचल के किसान अपनी फसल की पहली धान की बाली  मां को अर्पित करते है और उसी बाली को प्रसाद के रूप में दूसरी धान की फसल में मिलाते हैं। वे मानते है कि फसल में बढ़ोतरी होती है।
महंत शंकर पूरी ने कहा माता अन्नपूर्णा का व्रत-पूजन दैविक, भौतिक का सुख प्रदान करता है और अन्न-धन, ऐश्वर्य की कमी नहीं होती है।

Share this :
   
State News से जुड़े हर ताज़ा अपडेट पाने के लिए HNS के फ़ेसबुक पेज को लाइक करें
 
प्रमुख खबरे
धूमधाम के साथ कस्बे में निकली कलश यात्रा
आओ मेरी सखियों मुझे मेहंदी लगा दो,मुझे श्याम सुंदर की दुल्हन बना दो
श्रीमद् भागवत कथा का श्रवण करने से मिलता है मोक्ष:पं.सुरेश शरण शास्त्री
कृष्ण जन्मोत्सव पर खूब झूमे भक्त
अन्नपूर्णा मन्दिर सत्रह दिवसीय महाव्रत आज से हुआ प्रारम्भ
 
 
 
Copyright © 2016. all Right reserved by Hindustan News Express | Privecy policy | Disclimer Powered By :