होम कानपुर कानपुर आस-पास अपना प्रदेश राजनीति देश/विदेश स्वास्थ्य खेल आध्यात्म मनोरंजन बिज़नेस कैरियर संपर्क
 
  1. कानपुर-हैलट अस्पताल पहुंचे मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ
  2.      
  3. 58 साल की उम्र में राजू श्रीवास्तव का निधन।
  4.      
  5. दिल्ली एम्स में भर्ती थे राजू श्रीवास्तव।
  6.      
  7. दिल्ली-कॉमेडियन राजू श्रीवास्तव का निधन।
  8.      
  9. उत्तर प्रदेश-मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने आज विधानभवन, लखनऊ परिसर में विधानसभा सत्र के दौरान विधायकों के लिए स्वास्थ्य शिविर का किया उद्घाटन।
  10.      
  11. टीचर,लगातार कई थप्पड़ भी मारे,भाई बहन दोनो को कई दिनों से रहा था पीट,बच्चों की शिकायत पर पिता ने बच्चों के कमरे में लगवा दिया सीसीटीवी कैमरा,टीचर की करतूत सीसीटीवी में कैद,सौरिख क्षेत्र का मामला।
  12.      
  13. कन्नौज- टीचर की क्रूरता का वीडियो हुआ वायरल,मासूम बच्चों के बुरी तरह बाल-कान घसीटकर पीट रहा
  14.      
  15. चोरी की घटना को अंजाम देने के बाद पुलिस पीट रही अब लकीर।सदर कोतवाली क्षेत्र के सरायमीरा की घटना।
  16.      
  17. लाखों का माल लेकर बड़ी आसानी से हो गए चंपत।
  18.      
  19. कन्नौज के चहल पहल भरे इलाके में चोरों ने तीन दुकानों को बनाया निशाना।
  20.      
  21. कन्नौज- कन्नौज पुलिस की रात्रि गश्त के दावे कन्नौज में दिख रहे फुस।
  22.      
  23. आग लगने की वजह पतंग की डोर बताई जा रही है,सब स्टेशन में आग लगने से कई क्षेत्रों की बिजली हुई गुल।
  24.      
  25. फायर ब्रिगेड को दी गई सूचना पर पहुंची गाड़ी ने कड़ी मशक्कत के बाद आग पर पाया काबू
  26.      
  27. आग लगते ही धू-धू कर जलने लगे ट्रांसफार्मर
  28.      
  29. आग लगते ही धू-धू कर जलने लगे ट्रांसफार्मर
  30.      
  31. कानपुर-पालिका स्टेडियम के पीछे सब स्टेशन में लगी भीषण आग
  32.      
  33. इटावा से एक दर्जन से अधिक संख्या में कन्नौज पहुंचे अधिकारी।
  34.      
  35. कागजों की छानबीन में जुटी जी एस टी की टीम।
  36.      
  37. तीन गाड़ियों से इत्र व्यापारी के घर पहुंची टीम।
  38.      
  39. कन्नौज-यूपी जी एस टी की टीम ने इत्र व्यापारी के घर पर मारा छापा
  40.      
 
 
आप यहां है - होम  »  देश/विदेश  »  भारत ने कतर के साथ जीआई उत्पादों के लिए वर्चुअल नेटवर्किंग बैठक का आयोजन किया
 
भारत ने कतर के साथ जीआई उत्पादों के लिए वर्चुअल नेटवर्किंग बैठक का आयोजन किया
Updated: 9/13/2022 9:11:00 AM By Reporter-

भारत ने कतर के साथ जीआई उत्पादों के लिए वर्चुअल नेटवर्किंग बैठक का आयोजन किया ।
हिंदुस्तान न्यूज़ एक्सप्रेस नई दिल्ली  देश में निहित कृषि उत्पादों के निर्यात को बढ़ावा देने के अपने प्रयास में, सरकार ने भारतीय दूतावास, दोहा और आईबीपीसी कतर के सहयोग से कृषि और खाद्य जीआई उत्पादों के लिए एक वर्चुअल नेटवर्किंग बैठक का आयोजन किया। इसमें निर्यातकों, आयातकों, आईबीपीसी के प्रतिनिधियों, भारतीय दूतावास और कृषि एवं प्रसंस्कृत खाद्य निर्यात विकास प्राधिकरण (एपीईडीए) के अधिकारियों सहित 80 से अधिक प्रतिभागियों ने भाग लिया।इस अवसर पर, डॉ. दीपक मित्तल, राजदूत, भारतीय दूतावास, दोहा, कतर ने प्रतिभागियों को भारत कतर द्विपक्षीय व्यापार को बढ़ाने के अवसरों के बारे में जानकारी दी। उन्होंने कहा कि इस तरह की व्यापार बैठकें निर्यात बढ़ाने के लिए बी2बी बातचीत का अवसर प्रदान करेंगी।एपीडा के अध्यक्ष डॉ. एम. अंगमुथु ने अपने संबोधन में जीआई, जैविक और प्राकृतिक उत्पादों को बढ़ावा देने में भारत सरकार के फोकस के बारे में जानकारी दी। भौगोलिक संकेत (जीआई) की विशेषताएं निर्यात किए गए उत्पादों का मूल्‍य संवर्धन करती हैं। ये उत्पाद सीधे किसानों से प्राप्त होते हैं और किसानों को निर्यात बाजार से जोड़ने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं। भारत उत्पादों की विस्तृत श्रृंखला पेश कर सकता है और हमारे निर्यातक कतर को निर्यात करने के इच्छुक भी हैं।इस बैठक ने भारतीय मूल के कृषि और खाद्य उत्पादों और विशिष्ट विशेषताओं के निर्यात में भारत की ताकत पर कतर के भारत के निर्यातकों और आयातकों के बीच बातचीत के लिए एक मंच प्रदान किया। बातचीत के दौरान, निर्यातकों ने निर्यात के लिए संभावित जीआई उत्पादों जैसे बासमती चावल, आम, अनार, एनईआर के उत्पादों और कई प्रसंस्कृत उत्पादों के बारे में जानकारी दी। इन आयोजनों से निर्यात की सुविधा के लिए भारतीय उत्पादों में आयातकों का विश्वास अधिक मजबूत होने की उम्मीद है। वाणिज्य और उद्योग मंत्रालय के तहत कृषि और प्रसंस्कृत खाद्य उत्पाद निर्यात विकास प्राधिकरण (एपीडा) ने 2021-22 के दौरान कुल कृषि निर्यात में लगभग 50% (24.77 बिलियन अमेरिकी डॉलर) की हिस्सेदारी के साथ कृषि और प्रसंस्कृत खाद्य उत्पादों के निर्यात को बढ़ावा देने में महत्वपूर्ण योगदान दिया है।चावल, फल और सब्जियां, चाय आदि जैसी कई कृषि वस्तुओं का प्रमुख उत्पादक होने के अलावा, भारत को कई कृषि उत्पादों के लिए पंजीकृत भौगोलिक संकेत (जीआई) होने का एक विशिष्ट लाभ भी है। वर्तमान में, भारत में 400 से अधिक पंजीकृत भौगोलिक संकेत हैं, जिनमें से लगभग 150 कृषि और खाद्य उत्पाद जीआई हैं। ऐसे 100 से अधिक पंजीकृत जीआई उत्पाद एपीडा अनुसूचित उत्पादों (ताजे फल और सब्जियां, प्रसंस्कृत खाद्य पदार्थ, पशु उत्पाद और अनाज) की श्रेणी में आते हैं। एपीडा ने नए, नवाचारी और जीआई उत्पादों को बढ़ावा देने और नए गंतव्यों को निर्यात करने के लिए भी पहल की है।

Share this :
   
State News से जुड़े हर ताज़ा अपडेट पाने के लिए HNS के फ़ेसबुक पेज को लाइक करें
 
प्रमुख खबरे
प्रधानमंत्री ने वंदे भारत एक्सप्रेस को दिखायी झंडी
केन्द्रीय मंत्री ने पर्यावरण के लिए जीवन शैली को वैश्विक मिशन बनाने के विचार पर दिया जोर |
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने राज्यों के पर्यावरण मंत्रियों के राष्ट्रीय सम्मेलन का किया शुभारंभ
नगर निगम आयुक्त ने स्वच्छता स्टार्टअप काॅन्क्लेव में किया प्रतिभाग
एनएमडीसी को राजभाषा कीर्ति पुरस्कार
 
 
 
Copyright © 2016. all Right reserved by Hindustan News Express | Privecy policy | Disclimer Powered By :