होम कानपुर कानपुर आस-पास अपना प्रदेश राजनीति देश/विदेश स्वास्थ्य खेल आध्यात्म मनोरंजन बिज़नेस कैरियर संपर्क
 
  1. कन्नौज-कन्नौज में एक बार फिर जीएसटी की छापेमारी शुरू,कई इत्र कारोबारियों के कारखानों में छापेमारी की गई,अजयपाल मोहल्ले में कई इत्र कारोबारियों पर छापा,अचानक जीएसटी की छापेमारी से फिर हड़कम्प मचा,इत्र कारोबारी अनवर वारसी के घर में छापेमारी की,टैक्सचोरी के शक में इत्र कारोबारी के ठिकाने पर छापा ,कारोबारी के घर से मिले बिल,कागज साथ ले गई टीम
  2.      
  3. 25 जनवरी को सप्लाई कोर्ट रिव्यू पैनल सब कमेटी की बैठक,उपभोक्ता परिषद के अध्यक्ष ने प्रस्ताव पर जताई आपत्ति
  4.      
  5. 25 जनवरी को कमेटी की बैठक में होगी चर्चा,प्रस्ताव को हरी झंडी मिलते ही कनेक्शन महंगा होगा,वर्तमान दरों की तुलना में 20% तक देने होंगे अधिक दाम
  6.      
  7. उपभोक्ताओं को मिल सकता है एक और झटका,पावर कारपोरेशन ने दाखिल किया प्रस्ताव
  8.      
  9. लखनऊ-नया बिजली कनेक्शन 20% हो सकता है महंगा
  10.      
  11. 12 फ़रवरी को रिक्त होने वाली पांच सीटों में 3 भाजपा की पार्टी के वरिष्ठ नेताओं को जिलेवार प्रभारी बनाया गया है
  12.      
  13. 100 सीटों वाले विधान परिषद में सपा के पास 9 सीटें हैं,जबकि नेता प्रतिपक्ष के पद को पाने के लिए 10 सीटें ज़रूरी
  14.      
  15. 1 सीट जीतने पर नेता प्रतिपक्ष का पद मिल जाएगा
  16.      
  17. 30 जनवरी को कुल 5 सीटों के लिए होगा मतदान
  18.      
  19. लखनऊ-स्नातक व शिक्षक सीट पर समाजवादी पार्टी की नजर
  20.      
  21. हादसा छिबरामऊ क्षेत्र के एनएच 91लड़ैता गांव के पास की है।
  22.      
  23. सभी श्रद्धालु कन्नौज जनपद के निवासी हैं।
  24.      
  25. श्रद्धालु शिकोहाबाद के एक मंदिर से होकर लौट रहे थे
  26.      
  27. घायलों को कराया गया 100शैया अस्पताल में भर्ती।
  28.      
  29. 16श्रद्धालु हुए घायल जिसमें 7 गंभीर रूप से घायल।
  30.      
  31. लगभग 25 श्रद्धालु बस में सवार थे।
  32.      
  33. कन्नौज-श्रद्धालुओं से भरी बस अनियंत्रित होकर पलटी।
  34.      
  35. कानपुर-सीएसए के अधीन संचालित कृषि विज्ञान केंद्र दलीप नगर द्वारा ग्राम पिटूरा समायूँ में फसल अवशेष प्रबंधन पर ग्राम स्तरीय जागरूकता कार्यक्रम का किया गया आयोजन।
  36.      
 
 
आप यहां है - होम  »  स्वास्थ्य  »  फाइलेरिया नेटवर्क उपचार और प्रबंधन पर दे रहा जानकारी
 
फाइलेरिया नेटवर्क उपचार और प्रबंधन पर दे रहा जानकारी
Updated: 1/21/2023 1:01:00 AM By Reporter- rajesh kashyap kanpur

फाइलेरिया नेटवर्क उपचार और प्रबंधन पर दे रहा जानकारी |
हिंदुस्तान न्यूज़ एक्सप्रेस कानपुर | जनपद के ब्लॉक कल्याणपुर, सरसौल और घाटमपुर में फाइलेरिया नेटवर्क ने फाइलेरिया उन्मूलन के लिए जिम्मा उठाया है। इस कार्य में अब जनप्रतिनिधियों का भी सहयोग मिल रहा है। इसी क्रम में शुक्रवार को कल्याणपुर ब्लॉक के बिनौर ग्राम सभा में ग्राम प्रधान प्रतिनिधि अरविंद कुमार ने लोगों को मच्छरों से बचने के लिए नालियों में छिड़काव के तरीके बताए। उन्होंने कहा कि जागरूकता फैलाने में फाइलेरिया नेटवर्क का कार्य सराहनीय है। उन्होंने लोगों से अपील की है कि फाइलेरिया उन्मूलन के लिए लोग आगे आएं। अरविंद कुमार की ओर से सागर माता नेटवर्क की मासिक बैठक में नेटवर्क सदस्यों से चर्चा की गई। उन्हें बताया गया कि जिला स्वास्थ्य समिति जिले को फाइलेरिया मुक्त करने में प्रयासरत है। उन्होंने कहा कि फाइलेरिया उन्मूलन अभियान में सामुदायिक स्तर पर लोगों का जागरूक होना जरूरी है। फाइलेरिया कभी न ठीक होने वाली बीमारी है। यदि एक बार हो गया तो उसे ठीक नहीं किया सकता है। इसलिए जरूरी है कि समय पर इसकी पहचान करके इस बीमारी को रोका जा सके। उन्होंने बताया कि फाइलेरिया से बचाव और रोकथाम के लिए साल में एक बार फाइलेरिया रोधी दवा का सेवन कराया जाता है। उन्होंने लोगों से अपील की है कि फाइलेरिया रोकथाम के लिए जो भी अभियान चलाए जा रहे उसमें बढ़ चढ़ कर हिस्सा लें। जिला मलेरिया अधिकारी एके सिंह का कहना है कि मोर्बिडिटी मैनेजमेंट एंड डिसेबिलिटी प्रिवेंशन (एमएमडीपी) यानि रुग्णता प्रबंधन एवं विकलांगता की रोकथाम के जरिए हाइड्रोसील और लिम्फेडेमा से संक्रमित व्यक्तियों की देखभाल व उनको समुचित इलाज प्रदान किया जा रहा है। यह भी बताया कि फाइलेरिया रोधी दवाएं पूरी तरह सुरक्षित हैं। सामान्य लोगों को इन दवाओं के खाने से किसी भी प्रकार के दुष्प्रभाव नहीं होते हैं और अगर किसी को दवा खाने के बाद उल्टी, चक्कर, खुजली या जी मिचलाने जैसे लक्षण होते हैं तो यह इसका प्रतीक हैं कि उस व्यक्ति के शरीर में फाइलेरिया के कीटाणु मौजूद हैं, जोकि दवा खाने के बाद कीटाणुओं के मरने से उत्पन्न होते हैं। उन्होंने कहा कि साल में केवल एक बार फाइलेरिया रोधी दवाएं खाने से फाइलेरिया के संक्रमण से बचा जा सकता है। उन्होंने स्पष्ट किया कि 2 वर्ष से कम उम्र के बच्चों, गर्भवती महिलाओं और अति गंभीर रूप से बीमार व्यक्तियों को ये दवाएं नहीं खानी हैं।

Share this :
   
State News से जुड़े हर ताज़ा अपडेट पाने के लिए HNS के फ़ेसबुक पेज को लाइक करें
 
प्रमुख खबरे
एमडीए अभियान में 19.43 लाख को खिलाए जाएगी दवा
कुष्ठ की पीड़ा से उबर चुके धरम बने दूसरों के मददगार
जनपद में कन्या जन्मोत्सव कार्यक्रम कर महिला सशक्तीकरण को दिया बढ़ावा
सबको दवाई खाना है, फाईलेरिया से बचाना है
खान-पान में मिले रसायनिक तत्व कैंसर को देते हैं दावत
 
 
 
Copyright © 2016. all Right reserved by Hindustan News Express | Privecy policy | Disclimer Powered By :